उत्तराखंड

उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, 210 सड़के बंद, जनजीवन अस्त-व्यस्त

उत्तराखंड में बारिश आफत बनकर बरस रही है। भारी बारिश से प्रदेश में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है तो वहीं भूस्खलन से रास्ते बाधित हो रहे हैं। मंगलवार को राजधानी देहरादून में बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने आज राजधानी दून समेत आठ जिलों में भारी बारिश की आशंका जताई है। मौसम विभाग की ओर से देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चम्पावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और ऊधमसिंह नगर जिले के लिए भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। हालांकि, अन्य जिलों में भी गर्जन और बिजली चमकने के साथ कई दौर की तेज बारिश होने के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रदेशभर में अगले कुछ दिनों तेज बारिश होने की संभावना है। इसके चलते संवेदनशील इलाकों में भूस्खलन से मार्ग अवरुद्ध हो सकते हैं।  

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

देहरादून में स्कूल बंद, टपकेश्वर मंदिर हुआ जलमग्न
भारी बारिश के पूर्वानुमान के चलते देहरादून जिला प्रशासन में नगर निगम क्षेत्र देहरादून , झाझरा और रायपुर विकासखंड के सभी सरकारी और निजी स्कूलों में मंगलवार को अवकाश घोषित किया है। वहीं बीते रोज भारी बारिश से देहरादून शहर के पास स्थित टपकेश्वर महादेव मंदिर की सीढ़ियों से पानी बहने लगा। जिससे श्रद्धालुओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। तो मसूरी देहरादून मार्ग शिव मंदिर के पास भारी भूस्खलन और पेड़ गिरने से बाधित हो गया, जिसे काफी देर बाद खोला गया। इस दौरान सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। 

यह भी पढ़ें 👉  ऋषिकेश- हनुमान घाट पर डूबा युवक, SDRF चला रही सर्च ऑपरेशन

प्रदेश में 210 सड़के बंद 
प्रदेश में 210 सड़कें बंद हैं। सोमवार को 35 सड़कें ही खुल पाईं। लोनिवि के अनुसार, एक दिन पहले से 167 सड़कें बंद थीं। 78 सड़कें सोमवार को बंद हुईं। इस तरह कुल 245 बंद सड़कों में से देर शाम तक 35 सड़कों को खोल दिया गया था। बंद सड़कों में 13 मुख्य जिला मार्ग, आठ जिला मार्ग, चार अन्य जिला मार्ग, 90 ग्रामीण सड़कें और 95 पीएमजीएसवाई की सड़कें शामिल हैं। सड़कों को खोलने के काम में सोमवार को 185 जेसीबी मशीनों को लगाया गया। 

यह भी पढ़ें 👉  Rishikesh AIIMS में नर्सिंग आफिसर्स को अभद्र भाषा बोलने पर फिर हुआ बवाल

Most Popular

To Top