उत्तराखंड

उत्तराखंड के विधायक डॉ अग्रवाल का दान: शिक्षा और तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा, राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2022 को लागू किया

क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने कैलाशवर्ती वर्मा पब्लिक स्कूल के वार्षिक उत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। इस दौरान विद्यालय में एक कक्ष और मुख्य मार्ग से विद्यालय को जोड़ने वाले सड़क के लिए 10 लाख रुपए विधायक निधि से देने की घोषणा की।

नेपाली फार्म स्थित वार्षिक उत्सव का शुभारंभ कर डॉ अग्रवाल ने कहा कि वार्षिकोत्सव विद्यालय की वार्षिक प्रस्तुति को दर्शाता है और यह आवश्यक भी है। कहा कि वार्षिकोत्सव के जरिए विद्यालय के बच्चों को प्रतिभा निखारने का अवसर मिलता है। इस तरह के कार्यक्रमों में विभिन्न राज्यों की संस्कृति एक मंच पर देखने को मिलती है। यही भारत की एकता, अखंडता, संप्रभुता का उदाहरण हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी ख़बर:PWD मे खुला तबादलो का पिटारा,देखें लिस्ट

डॉ अग्रवाल ने कहा कि अब तकनीकी शिक्षा का दौर है। विद्यालय में केवल किताबी शिक्षा पर ही ध्यान न दिया जाए। अपितु तकनीकी शिक्षा पर भी जोर दिया जाए। कहा कि विद्यालय में ऐसी शिक्षा की व्यवस्था की जाए, प्रतियोगी परीक्षा के लिए आवश्यक हो। यही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का भी लक्ष्य है। उनकी दूरगामी सोच से देश को 34 वर्षों बाद नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति मिली है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के माध्यम से विद्यार्थियों के संपूर्ण विकास की दिशा में ध्यान दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  स्वास्थ्य मंत्री ने ली डेंगू रोकथाम की समीक्षा बैठक

डॉ अग्रवाल ने कहा कि भारत के बच्चें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ ही तकनीकी शिक्षा की ओर बढ़े, इसके लिए नई शिक्षा नीति लागू की गई है। कहा कि हमारे राज्य के लिए गौरव की बात है कि उत्तराखंड देश का प्रथम राज्य है जिसने स्कूली शिक्षा एवं उच्च शिक्षा दोनों में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2022 को लागू किया है।

यह भी पढ़ें 👉  बुलेटिन:सुबह देश राज्यों से बड़ी खबरें,फटाफट

इस मौके पर प्रधान खैरीकला चंद्र मोहन पोखरियाल, एनएस भटनागर, जिला महामंत्री भाजपा राजेंद्र तड़ियाल, प्रधानाचार्य रंजीत घिल्डियाल, उषा भटनागर, जगदीप शर्मा, डॉ इंदू सिंह, डॉ दलजीत सिंह, भाग सिंह रावत सहित सैकड़ो की संख्या में अभिभावक व स्कूली बच्चे उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top