उत्तराखंड

विधि-विधान से खुले तृतीय केदार श्री तुंगनाथ के कपाट

तुंगनाथ (रूद्रप्रयाग)। 10 मई। पंचकेदारों में प्रतिष्ठित तृतीय केदार श्री तुंगनाथ जी के कपाट मंत्रोचारण के साथ पूजा- अर्चना पश्चात विधि-विधान से खुल गये हैं। इस अवसर पर श्री तुंगनाथ मंदिर को भब्य रूप् से फूलों से सजाया गया था। कपाट खुलते समय ढ़ाई हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किये। तुंगनाथ में इस दौरान मौसम सर्द रहा।

यह भी पढ़ें 👉  होशियार:ऋषिनगरी मे डिफेन्स की नकली शराब,लोगों की सेहत से खिलवाड़, वीडियो

श्री तुंगनाथ जी की उत्सव डोली 7 मई को श्री मर्केटेश्वर मंदिर से भूतनाथ मंदिर प्रवास हेतु आ गयी थी। 9 मई को चोपता प्रवास कर आज 10 मई को प्रात चोपता से श्री तुंगनाथ मंदिर परिसर पहुंची तथा द्वार पूजा पश्चात विधि-विधान से आज दिन 12 बजे श्री तुंगनाथ मंदिर के कपाट खुल गये।

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

कपाट खुलने के पश्चात भगवान श्री तुंगनाथ के स्वयंभू शिवलिंग को समाधि रूप् से जगाकर श्रृगार रूप् दिया गया उसके बाद श्रद्धालुओं ने दर्शन किये।
श्री तुंगवाथ जी के शीतकालीन गद्दी स्थल श्री मार्कंडेय मंदिर मक्कूमठ में इस दौरान मठापति रामप्रसाद मैठाणी,प्रबंधक बलबीर नेगी,पुजारी प्रकाश मैठाणी,विनोद मैठाणी सहित मंदिर समिति के अधिकारी कर्मचारी एवं स्थानीय हक- हकूकधारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  खुलासा:मेडिकल स्टूडेंट्स के सुसाइड मामलों मे NMC का खुलासा,SGRR केस मे भी यही कारण शत प्रतिशत

Most Popular

To Top