उत्तराखंड

शासन की नाक के नीचे ऊधमसिंह नगर के राइस मिलर कर रहे धोखाधड़ी, मंत्री रेखा आर्य ने रंगे हाथ पकड़ा



ऊधमसिंह नगर में राइस मिलों में गड़बड़ी का मामूला हुआ है। खाद्य मंत्री रेखा आर्य ने बाजपुर और जसपुर की राइस मिलों में छापा मारते हुए उन गड़बड़ियों को देखकर चौंक जाईं। उन्होंने त्वरित गड़बड़ी कर रही राइस मिलों की मान्यता रद्द करने का आदेश जारी करते हुए जांच बिठा दी है।

रुद्रपुर: खाद्य मंत्री ने बाजपुर और जसपुर की राइस मिलों में छापेमारी की। इस प्रक्रिया के दौरान उन्होंने कई मिलों में अनियमितता का पता लगाया। इस पर उन्होंने शासन को डमी प्लांटों के इम्प्लीमेंटेशन को निरस्त करने और धान क्रय के लिए दिए गए लक्ष्य को भी निरस्त करने के आदेश जारी किए हैं। इसके साथ ही, तीन दिनों के अंदर जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं। अधिकारियों की संलिप्तता की जाने पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गुरू पूर्णिमा: मुख्यमंत्री और उपाध्यक्ष तिवारी ने 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान के तहत अपनी मां संग किया पौधारोपण

राइस मिलों पर मंत्री का छापा: खाद्य मंत्री रेखा आर्या बाजपुर पहुंचीं और इस दौरान धान मिलों का औचक निरीक्षण किया। मंत्री के औचक निरीक्षण से अधिकारियों और राइस मिलरों में हड़कंप मच गया। निरीक्षण के दौरान उन्हें कई खामियां मिलीं। खाद्य मंत्री रेखा आर्या ने बाजपुर स्थित धनलक्ष्मी फूड्स, धनलक्ष्मी सीड्स, उत्तरांचल फूड्स, महाबीर राइस, ASM मिलों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने धनलक्ष्मी सीड्स में कई कमियां मिलीं, और ASM मिल के निरीक्षण के दौरान प्लांट बंद मिला।

डमी प्लांट पर नाराज हुईं रेखा आर्य: उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह प्लांट सिर्फ एक डमी के रूप में लगाया गया है. जिसका उद्देश्य सिर्फ धान का क्रय करना है. उन्होंने बताया कि महाबीर राइस मील के भी निरीक्षण में यही कमियां देखने को मिली हैं. जिन भी मिलों में कमियां पाई गई हैं, वहां पर सॉर्टेक्स मशीन, ड्रायर प्लांट, ब्लेन्डिंग मशीन का ना होना पाया गया. इसके अलावा भी कई अन्य खामियां मिलों में देखने में आईं. खाद्य मंत्री ने शासन को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि ऐसी सभी मिलों को जो कि नियमों के विपरीत काम कर रही हैं, उनके इम्पेलमेंट को समाप्त किया जाए.

यह भी पढ़ें 👉  निर्देशः विश्वविद्यालय व शासन के अधिकारियों को दिए गए ये निर्देश, जल्द होगा समस्याओं का समाधान

तीन दिन के भीतर मांगी जांच रिपोर्ट: इसके साथ ही लक्ष्य को नियम का पालन करने वाली मिलों को दे दिया जाए. उन्होंने निर्देश दिए कि तीन दिन के भीतर जांच आख्या से उन्हें अवगत कराया जाए. साथ ही उन्होंने कहा कि घोर लापरवाही पर आरएएफसी और एमआई पर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ती है तो एफआईआर भी कराई जाए. मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि यह बेहद ही घोर लापरवाही की बात है कि राइस मिलों के द्वारा नियमों को ताक पर रखकर काम किया जा रहा है. इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने विभागीय सचिव को ऐसी मिलों के खिलाफ और अधिकारियों के विरुद्ध भी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. जिसके बाद उन्होंने जसपुर पंजाब राइस मिल का निरीक्षण किया, उसमें भी यही खामियां मिली हैं. द्वारा जांच के आदेश देते हुए इम्पेलमेंट और कोड निरस्त करने के निर्देश दिए हैं.

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंंगः अचानक राज्य आपदा परिचालन केन्द्र पहुंचे सीएम धामी, अधिकारियों को दिए ये  निर्देश

Most Popular

To Top