उत्तराखंड

मंत्री अग्रवाल ने डॉ अम्बेडकर को श्रद्धांजलि की अर्पित

उत्तराखंड दलित विकास महासभा द्वारा संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर जी की 133वीं जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। इस दौरान महासभा की ओर से डॉ अग्रवाल को बाबा साहब का चित्र भेंट किया गया।

अम्बेडकर चौक पर आयोजित कार्यक्रम में मंत्री डॉ अग्रवाल ने बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर जी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि डॉ. आंबेडकर का जीवन संघर्ष और सफलता की कहानी सभी के लिए प्रेरणा है। उनके विचार महिलाओं को पुरुषों के बराबर, अल्पसंख्यकों और गरीबों को अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाने के लिए प्रेरित करते हैं। कहा कि बाबा साहेब ने अपना जीवन समाज से छूआछूत व अस्पृश्यता को समाप्त करने के लिये समर्पित कर दिया था। उनका मानना था कि अस्पृश्यता को हटाए बिना राष्ट्र की प्रगति नहीं हो सकती है, जिसका अर्थ है समग्रता में जाति व्यवस्था का उन्मूलन।

यह भी पढ़ें 👉  नियम:इन महाशय के लिए कंहा गया उत्तराखंड पुलिस का नियम? पुलिस पर प्रश्नचिन्ह

डॉ अग्रवाल ने कहा कि संविधान निर्माता डा. भीमराव आंबेडकर ने देश की आजादी के बाद जिस भारत का सपना देखा, उस सपने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पूरा कर रही है। बाबा साहेब के आदर्शों के पथ पर मोदी सरकार अनवरत गतिशील है। जिस सामाजिक न्याय की लड़ाई के लिए बाबा साहेब ने पूरा जीवन समर्पित कर दिया, आज वह सामाजिक न्याय, फसाना नहीं हकीकत बन चुका है।

डॉ अग्रवाल ने कहा कि मोदी सरकार के मंत्रिपरिषद में आज दलितों की भागीदारी दस प्रतिशत से अधिक है। देश में पहली बार दलित समाज को इतना प्रतिनिधित्व हासिल हुआ है। कहा कि कांग्रेस की नेहरू, इंदिरा, राजीव गांधी या मनमोहन की सरकार में भी इतनी संख्या में दलित मंत्रियों को सरकार में शामिल होने का अवसर नहीं मिला। कहा कि राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान देने वाले सभी महापुरुषों को अगर पहली बार किसी सरकार ने भेदभाव रहित सम्मान देने का काम किया है तो वह नरेंद्र मोदी की सरकार है। कहा कि आज नरेंद्र मोदी की सरकार में अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के मंत्रियों का अच्छा प्रतिनिधित्व है। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 अप्रैल को आधिकारिक रूप से संविधान दिवस की घोषणा कर डॉ. भीमराव आंबेडकर के महान योगदान को सम्मान देने की पहल की।

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

डॉ अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली से लेकर लंदन तक बाबा साहेब की यादों को चिरस्थाई बनाने की पहल की है। लंदन में वकालत की पढ़ाई के लिए बाबा साहेब जिस स्थान पर रहा करते थे, वहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 नवंबर 2015 को आंबेडकर स्मारक का उद्घाटन किया था। पश्चिम लंदन में किंग हेनरी रोड पर यह तिमंजिला स्मारक है। देश के किसी महापुरुष के जीवन से जुड़े सभी स्थलों को पहली बार तीर्थ स्थल के रूप में मोदी सरकार ने विकसित करने की पहल की। आंबेडकर से जुड़े पांच प्रमुख स्थानों को मोदी सरकार ने पंचतीर्थ घोषित किया है।

यह भी पढ़ें 👉  निर्देश:धामी के ग्राउंड पर उतरते ही व्यवस्था हुई दुरस्त

इस मौके पर मण्डल अध्यक्ष ऋषिकेश भाजपा सुमित पंवार, अध्यक्ष उत्तराखंड दलित महासभा नंद किशोर जाटव, जिलाध्यक्ष महिला मोर्चा कविता शाह, वरिष्ठ भाजपा नेता इंद्र कुमार गोदवानी, जिला उपाध्यक्ष दिनेश सती, पूर्व पालिकाध्यक्ष शम्भू पासवान, सदस्य वन निगम देवदत्त शर्मा, मण्डल अध्यक्ष महिला मोर्चा माधवी गुप्ता, रूपेश गुप्ता, राजपाल ठाकुर, राधे जाटव, विनोद भट्ट, आकाश जाटव, आशोक जाटव, हंसराज, कमल जाटव, जय प्रकाश ठेकेदार, निवर्तमान पार्षद राजू नरसिम्हा, शशि मिश्रा, आरती देवी, प्रिया राजभर, बबिता राजभर, प्रभा देवी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top