उत्तराखंड

नैनीताल की बेटी, जस्टिस ऋतु बाहरी: उत्तराखंड की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश का इतिहास

Enter ad cod

नैनीताल:Justice ritu bahri पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट की वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति ऋतु बाहरी को उत्तराखंड उच्च न्यायलय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद उनके मुख्य न्यायधीश नियुक्त किये जाने की अधिसूचना आज जारी कर दी है। वह उत्तराखंड की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश होंगी।

पहली महिला चीफ जस्टिस बनी

पूर्व में सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली कॉलिजियम ने पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट की वरिष्ठ न्यायधीश ऋतु बाहरी को उत्तराखंड हाईकोर्ट का मुख्य न्यायधीश बनाने की सिफारिश की है । उत्तराखण्ड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश विपिन सांघी 26 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हो गए थे । जिसके बाद हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायधीश मनोज कुमार तिवारी हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश बनाये गए थे।जस्टिस रितु बाहरी पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट की पहली महिला कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश भी थी। उन्होंने 14 अक्तूबर 2023 को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश का चार्ज लिया था। Justice ritu bahri

यह भी पढ़ें 👉  CM धामी 21 को दून में साहित्यकारों को सम्मानित करेंगे

जलंधर में जन्म, पिता भी जज रह चुके

1962 में पंजाब के जालंधर में जन्मी रितु बाहरी ने अपनी पढ़ाई चंडीगढ़ में की और 1985 में पंजाब यूनिवर्सिटी से लॉ की डिग्री हासिल की। 1986 में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में वकालत आरंभ की और इसके बाद हरियाणा एडवोकेट जनरल कार्यालय में सेवाएं दीं। 16 अगस्त, 2010 को उन्हें पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का जज नियुक्त किया गया था। वर्तमान में वह पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट की दूसरी वरिष्ठतम जज हैं। जस्टिस रितु बाहरी के पिता जस्टिस अमृत लाल बाहरी भी पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में जज रह चुके हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हरदा:राज्य सरकार कर रही. उपनल की अनदेखी

Most Popular

To Top