उत्तराखंड

आदर्श जनपद चम्पावत के लिए बनाई जा रही कार्य योजना, सीएम ने दिए ये निर्देश 



मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज सचिवालय में जनपद चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और गतिमान कार्यों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड को आदर्श राज्य बनाने के लिए जनपद चम्पावत को मॉडल जनपद के रूप में लिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदर्श जनपद चम्पावत के लिए बनाई जा रही कार्य योजना पर तेजी से कार्य करने और विकास कार्यों में पारिस्थितिकी और पर्यावरण में समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आदर्श चम्पावत के लिए नोडल अधिकारी जनपद के अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के साथ नियमित बैठकें करें। उन्होंने कहा कि आदर्श चम्पावत के लिए और क्या बेहतर कार्य हो सकते हैं, इसके लिए स्थानीय स्तर पर लोगों के सुझाव भी लिये जाएं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड रेडक्रास समिति लोगों की मदद के लिए आई आगे, लोगों को मुहैया कराए तिरपाल

मुख्यमंत्री ने कहा कि चम्पावत जनपद में आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटक की सुविधा के दृष्टिगत तीन से चार दिन की यात्रा के लिए सर्किट बनाए जाएं। पूर्णागिरी में श्रद्धालुओं की संख्या काफी अधिक रहती है, श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि शारदा कॉरिडोर और चम्पावत के आईएसबीटी को भी विस्तारित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि निर्माण संबधी कार्यों में पारिस्थतिकी से संबंधित पहलुओं का विशेष ध्यान रखा जाए।

यह भी पढ़ें 👉  मंजूरीः हल्द्वानी मेडिकल कॉलेजों के लिए खुशखबरी,  मिली एक दर्जन मेडिकल फैकल्टी की नियुक्ति को मंजूरी

बैठक में मुख्य सचिव  राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव  आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव  आर.के. सुधांशु, सचिव शैलेश बगोली,  एस.एन.पाण्डेय, विशेष सचिव डॉ. पराग मधुकर धकाते, यूकॉस्ट के महानिदेशक प्रो. दुर्गेश पंत एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  गुरू पूर्णिमा: मुख्यमंत्री और उपाध्यक्ष तिवारी ने 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान के तहत अपनी मां संग किया पौधारोपण

Most Popular

To Top