उत्तराखंड

Chardham Yatra 2023: गंगोत्री धाम की यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, टूटे पुराने सारे रिकॉर्ड; इस दिन बंद होंगे कपाट

उत्तरकाशी। चारधाम यात्रा नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। यह पहला अवसर है जब चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड तीर्थ यात्रियों का हुजूम उमड़ा है। खासकर इस बार गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में भी तीर्थयात्रियों की संख्या का नया रिकॉर्ड बना है। गंगोत्री धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या का आंकड़ा नौ लाख के पार पहुंच गया है, जबकि यमुनोत्री धाम में 7.33 लाख से अधिक तीर्थयात्री पहुंच चुके हैं। इससे तीर्थ पुरोहितों सहित चारधाम यात्रा से जुड़े व्यापारी और व्यवसायी काफी खुश हैं।

यह भी पढ़ें 👉  नियम:इन महाशय के लिए कंहा गया उत्तराखंड पुलिस का नियम? पुलिस पर प्रश्नचिन्ह

गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट होंगे बंद
गंगोत्री धाम के कपाट 14 नवंबर और यमुनोत्री धाम के कपाट 15 नवंबर को बंद होने हैं। ऐसे में गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या और अधिक बढ़ सकती है। इस बार गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट 22 अप्रैल को खुले थे, जिसके बाद चारधाम यात्रा ने रफ्तार पकड़ी।

टूट गए सारे रिकॉर्ड
वर्षा काल के दौरान राजमार्ग अवरुद्ध रहने के दौरान कुछ दिन तीर्थ यात्रा बाधित हुई। परंतु वर्षा काल के बाद चारधाम यात्रा फिर पटरी पर लौटी और ​तीर्थयात्रियों ने नया रिकॉर्ड बनाया है। गंगोत्री धाम और यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्रियों की संख्या के पुराने सारे रिकॉर्ड टूटे हैं। इससे पहले 2022 में गंगोत्री धाम में इस सीजन में 6.24 लाख व यमुनोत्री धाम में 4.85 लाख तीर्थयात्री पहुंचे।

यह भी पढ़ें 👉  निर्देश:धामी के ग्राउंड पर उतरते ही व्यवस्था हुई दुरस्त

पहली बार पहुंचे इतने तीर्थयात्री
गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने कहा कि चारधाम धाम यात्रा उम्मीदों के अनुरूप चली है। इतनी संख्या में पहले कभी गंगोत्री धाम तीर्थयात्री नहीं पहुंचे। यह पहला अवसर है जब एक सीजन में तीर्थयात्रियों की संख्या गंगोत्री धाम में नौ लाख के पार पहुंची है। अभी एक सप्ताह का समय शेष है। यह यात्रा सभी तीर्थ पुरोहितों, व्यापारियों, होटल व्यवसायियों और चारधाम से जुड़े अन्य सभी व्यवसायियों के लिए सुखद रही है।

यह भी पढ़ें 👉  खुलासा:मेडिकल स्टूडेंट्स के सुसाइड मामलों मे NMC का खुलासा,SGRR केस मे भी यही कारण शत प्रतिशत

Most Popular

To Top