उत्तराखंड

विकास:धामी के नेतृत्व मे विकास दर ने लगाई लम्बी छलांग,अर्थव्यवस्था हुई मजबूत

देहरादून। प्रदेश की अर्थव्यवस्था में विकास दर ने लंबी छ लांग लगाते हए राष्ट्रीय औसत विकास दर को पीछे छोड़ दिया है।

आर्थिक सर्वेक्षण वर्ष 2023 24 के आंकड़े के अनुसार यह रिपोर्ट सामने आई है। यह मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश की अर्थव्यवस्था ने बड़ी छलांग लगाई है यह तथ्य आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट वर्ष 2023-24 में सामने आया है, जिसमें स्पष्ट है कि प्रदेश की विकास दर 7.58 फीसदी रही है, जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है।

यह भी पढ़ें 👉  एसजीआरआर विवि में भविष्य के लिए प्रतिभा विषय पर कार्यशाला का आयोजन

वर्ष 2023-24 में अर्थव्यवस्था का आकार बढ़कर 346.20 हजार करोड़ रूपए पहुंच गया है, जबकि 2022- 23 में इसका आकार 303.78 हजार करोड़ रूपए था। उत्तराखण्ड में प्रति व्यक्ति आय में भी 12.64 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

आर्थिक सर्वेक्षण से स्पष्ट है कि राज्य की अर्थव्यवस्था में सेकेंडरी सेक्टर का सबसे अधिक 46.84%, दूसरे नंबर पर सर्विस सेक्टर का 43.17%, वहीं प्राइमरी सेक्टर यानी एग्रीकल्चर का अर्थव्यवस्था में 9.99% योगदान रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  चंदेश्वरनगर में भाजपा राज्यसभा सांसद संग निवर्तमान मेयर ने घर-घर जाकर किया जनसंपर्क

उत्तराखण्ड में बेरोजगारी दर में भी भारी कमी देखने को मिली है। 2021- 22 में उत्तराखंड में 8.4 प्रतिशत बेरोजगारी दर थी, जो 2022-23 में घटकर 4.9 प्रतिशत रह गई।

यह भी पढ़ें 👉  विरोध: मोदी के विरोध करने वाले कांग्रेसी गए जेल, कार्रवाई

बहुआयामी गरीबी में भी भारी गिरावट आई है। वर्ष 2015-16 में उत्तराखण्ड में बहुआयामी गरीबी की दर 17.67 थी जो साल 2019-21 में घटकर 9.67 फ़ीसदी रह गई। इन पांच साल के अंतराल में राज्य के कुल 9,17,299 लोग बहुआयामी गरीबी से बाहर निकले हैं।

उत्तराखण्ड में 1,25,000 लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य है। इसके विपरीत अभी तक 68 हजार 579 लखपति दीदी बनाई जा चुकी हैं।

Most Popular

To Top