उत्तराखंड

छात्र अक्षांश नौटियाल ने निर्मल आश्रम स्कूल में प्रहलाद की भूमिका निभाई, मिले बड़े पुरस्कार

ऋषिकेश/उत्तराखंड भास्कर – निर्मल आश्रम ज्ञान दान एकेडमी स्कूल में पढ़ने वाले कक्षा चार के छात्र अक्षांश नौटियाल ने स्कूल का नाम रोशन किया है छात्र ने धार्मिक कार्यक्रम के दौरान भक्त प्रहलाद की ऐसी भूमिका निभाई की उपस्थित दर्शकों ने जमकर तालियां बजाकर छात्र की हौसला अफजाई की और उसकी ढेर सारा इनाम देकर आशीर्वाद दिया इस बड़ी उपलब्धि पर आश्रम के मंहत राम सिंह महाराज और व्यवस्थापक संत जोध सिंह महाराज ने छात्र को नगद धनराशि ढेर सारा आशीर्वाद देते हुए उसके उज्जवल भविष्य की प्रार्थना करि।

गुरुवार को निर्मल आश्रम के महंत राम सिंह महाराज व संत जोध सिंह महाराज ने एनजीए के अक्षांश नौटियाल को आश्रम में सपरिवार आमंत्रित किया। इस अवसर पर सबसे पहले महंत राम सिंह महाराज ने कथा‌ वाचन करके सभी को प्रहलाद के जीवन चरित्र के बारे में बताया। तत्पश्चात एनजीए के बाल कलाकार अक्षांश नौटियाल जिन्होंने वार्षिक दिवस महोत्सव के दौरान भक्त प्रहलाद का अभिनय किया को अपना आशीर्वाद स्वरूप भक्तों के द्वारा पुरस्कार धनराशि 47000 रूपए को अपने हाथों से अक्षांश नौटियाल व उनकी माता को प्रदान करी। साथ ही महाराज जी ने कंबल, सर्दियों की पोशाक, स्पोर्ट्स शूज व ड्राई फ्रूट्स का प्रसाद देकर उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

यह भी पढ़ें 👉  “बिल लाओ इनाम पाओ योजना“ के तहत निकाले गये मार्च 2024 के विजेताओं के लक्की ड्रा 

निर्मल आश्रम के महंत राम सिंह महाराज के समक्ष सभी भक्तों के मध्य अक्षांश ने पुनः एक बार फिर से प्रहलाद के अभिनय को चरितार्थ करते हुए सबके ह्रदय में अपनी पहचान बनाई। कुछ समय के लिए मानो सभी ने उनको साक्षात प्रहलाद के दर्शन के रूप में ही जाना हो, इस दौरान उनकी माता किरन नौटियाल ने बताया कि उनकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। घर में वह अपने पिता के साथ निवास करती हैं और जीवनयापन हेतु आंगनवाड़ी केन्द्र में मानदेय के आधार पर अपनी सेवाएं देती हैं। उन्होंने कहा कि अक्षांश की उम्र महज 10 वर्ष की है और इस उम्र में जहां बच्चों की उम्र खेलने कूदने की होती है वह इस दौरान घर के कामकाजों में अपनी भूमिका निभाता है। घर पर उसके नाना की तबीयत ठीक नहीं रहती तो वह जितना हो‌ सके उतनी सेवा करता है और समय समय पर मेरे द्वारा संचालित ट्यूशन में पढ़ने वाले बच्चों में भी अपना योगदान देता है।

यह भी पढ़ें 👉  चारधाम धाम यात्रा करने के लिए बुजुर्गों व युवाओं के साथ बच्चों में उत्साह, देखें आकंड़े

अक्षांश की माता किरन नौटियाल ने निर्मल आश्रम महंत राम सिंह महाराज एवं संत जोध सिंह महाराज का ह्रदय से आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया कि उनकी कृपा दृष्टि उनके बालक के ऊपर बनी एवं आभार व्यक्त किया। निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी की प्रधानाचार्या डॉ सुनीता शर्मा एवं प्रधानाध्यापिका अमृतपाल डंग का जिन्होंने समय समय पर उनके बालक को निखारने व संवारने का कार्य किया। इस अभिनय के लिए उन्होंने संगीत विभाग के साथ विशेष धन्यवाद दीपमाला कोठियाल एवं सभी शिक्षकों का किया। जिन्होंने उनके चरित्र में प्रहलाद के अभिनय को तराशा और उसको मंच के लिए तैयार किया।

अभिनय के दौरान पुरूस्कार धनराशि देने में निर्मल आश्रम से 1100, पुर्तगाल से आए भगत ऋषभ चावला ने 25000 व लखनऊ से ऊषा चावला ने 11000, हरप्रीत सिंह हैप्पी 5000 और करनाल से सिमरन ने 5000 की धनराशि पुरस्कार स्वरूप दी गई। इन सभी के सहयोग के लिए अक्षांश नौटियाल की माता किरन नौटियाल ने सभी प्रबुद्धजनों‌ का ह्रदय से आभार एवं अभिनंदन व्यक्त किया और महाराज जी की कृपा सभी के ऊपर बनी रहे के लिए प्रार्थना करी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तरांचल पंजाबी महासभा के संस्थापक की दसवीं पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि, कही ये बात

निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी की प्रधानाध्यापिका अमृतपाल डंग ने बताया कि अक्षांश इस समय एनजीए में कक्षा चार में अध्यनरत है और वह अभिनय के साथ साथ शिक्षा में भी अव्वल रहता है। वर्तमान में हुई परीक्षा परिणाम में उन्होंने हर विषय में शत-प्रतिशत नम्बर प्राप्त किए हैं और हमें पूर्ण विश्वास है कि वह निरंतर ही हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करेंगे। एनजीए परिवार महंत राम सिंह जी महाराज एवं सन्त जोध सिंह जी महाराज का हमेशा ही कृतज्ञता प्रकट करते हैं, जिनकी कृपा दृष्टि एनजीए पर बनी है । इस दौरान महाराज जी ने एनजीए प्रधानाध्यापिका अमृतपाल डंग, दीपमाला कोठियाल, सरबजीत कौर, दिनेश पैन्यूली, ईश्वर शुक्ला को सिरोपा भेंट कर आशीर्वाद दिया।

Most Popular

To Top