उत्तराखंड

उत्तराखड पर कुदरत का कहर, आपदा ने लील ली 100 से ज्यादा जिंदगियां; करीब दो हजार घरों को पहुंची क्षति

उत्तराखंड में इस साल मानसून के दौरान कुदरत ने जमकर अपना कहर बरपाया है। 15 जून से अब तक सौ से ज्यादा परिवारों को मूसलाधार बारिश से आई आपदाओं ने कभी न भर पाने वाले जख्म दिए हैं। इन परिवारों ने 93 परिजनों को खोया है, जबकि 16 का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। यही नहीं, 51 लोग घायल भी हुए हैं।

बीते 80 दिन पूरे राज्य पर भारी गुजरे हैं। आपदा प्रबंधन विभाग के आंकड़ों पर गौर करें तो आपदा में न केवल जनहानि हुई। बल्कि 1 हाजर 914 घरों को भी अपने आगोश में ले लिया। इनमें से 56 घर पूरी तरह ध्वस्त हो गए, जबकि 181 की स्थिति अब रहने लायक भी नहीं रह गई है। बाकी जो घर हैं वो भी आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं।

मानसून के दौरान अतिवृष्टि, भूस्खलन और बाढ़ के कारण राज्य के सभी जिले कराह उठे। रुद्रप्रयाग जिले में सबसे ज्यादा जनहानि हुई है। यहां 21 लोग काल का ग्रास बन गए, जबकि 13 लोगों का तो अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है। आपदा में पशुधन को भी बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। अब तक 7 हजार 798 मवेशी काल-कवलित हुए हैं। इसके अलावा सड़कें, पेयजल और विद्युत लाइनों समेत सार्वजनिक संपत्ति को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  ‘मानसखंड मंदिर माला मिशन’ को लेकर सीएम धामी की मेहनत ला रही रंग

आपदा से मानव क्षति

  जिला                 मृतक       घायल       लापता

रुद्रप्रयाग                 21            05              13
टिहरी                      10         03              00
पौड़ी                       09         08              03
उत्तरकाशी              09         18              00
ऊ.नगर                  08         05             00
चमोली                   08         06             00
देहरादून                08         03            00
हरिद्वार                  07          01           00
पिथौरागढ़             06         00           00
नैनीताल               03          00          00
बागेश्वर                 02         00         00
चंपावत                02         00          00
अल्मोड़ा             00        02          00

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

भवनों को पहुंची क्षति

        जिला,         आंशिक      तीक्ष्ण,     पूर्ण

हरिद्वार,          510          00          06
उत्तरकाशी      311          23          04
देहरादून         242         02          00
पिथौरागढ़      130          68          05
अल्मोड़ा        115           39           01
पौड़ी             79            01           02
टिहरी            76          02           09
चमोली          76           10           02
ऊ.नगर         43          00          06
बागेश्वर          37          33           00
चंपावत          30        03            00
नैनीताल         27        00           02
रुद्रप्रयाग        00      00            00

यह भी पढ़ें 👉  Rishikesh AIIMS में नर्सिंग आफिसर्स को अभद्र भाषा बोलने पर फिर हुआ बवाल

 

 

 

Most Popular

To Top