उत्तराखंड

इन्वेस्टर सम्मिट, शिक्षण संस्थाए भी कर रही उत्तराखंड में निवेश , पहाड़ो मे भी खुलेंगे नामी स्कूल, आज हुए MOU

राज्य में स्थित प्रमुख निजी शिक्षा संस्थानों के माध्यम से प्रदान की जाने वाली स्कूली शिक्षा की उपलब्धता अधिकांशत: असमान रह रही है, और यह केवल जनसंख्या भरी इलाकों तक ही सीमित है। इस परिणामस्वरूप, साधनहीन छात्रों को इन विद्यालयों तक पहुँचने में कठिनाई हो रही है, और कुछ सीमा तक राज्य में पलायन को बढ़ावा मिला है।

यह भी पढ़ें 👉  लघु सिंचाई खंड नैनीताल के अधिशासी अभियंता गिरफ्तार, बरामद हुए इतने लाख रुपये

राज्य में प्रतिष्ठित निजी शिक्षण संस्थाओं में दी जा रही शिक्षा की पहुँच साधनविहीन छात्रों को भी हो सके इसके लिए जागामी ग्लोबल इन्वेस्टर्स सम्मिट के दृष्टिगत निजी विद्यालयों के संचालको/प्रबन्धको को आवश्यकता वाले क्षेत्रों में राज्य सरकार की निवेश नीति के अमार्गत नये रसूल (बोर्डिंग) खोले जाने हेतु प्रेरित किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  नियम:इन महाशय के लिए कंहा गया उत्तराखंड पुलिस का नियम? पुलिस पर प्रश्नचिन्ह

निजी विद्यालयों के प्रबच्चको संचालकों को अवगत कराया गया कि राज्य सरकार द्वारा इसके लिए भूमि बैंक बनाया गया है जिसका लाभ राज्य सरकार द्वारा निर्धारित की गयी नीति के अन्तर्गत निवेश पर मिल सकता है। इसी क्रम में दिनांक 4 दिसम्बर 2023 को निजी विद्यालयों के प्रबन्धकों/संचालकों के साथ सचिव विद्यालय शिक्षा श्री रविनाथ रामन की आध्यक्षता में राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा के सभागार में बैठक आयोजित की गयी।

यह भी पढ़ें 👉  होशियार:ऋषिनगरी मे डिफेन्स की नकली शराब,लोगों की सेहत से खिलवाड़, वीडियो

Most Popular

To Top