उत्तराखंड

उत्तराखंड में आज भारी बारिश का अलर्ट, चारधाम राजमार्ग समेत 190 से अधिक सड़के बंद 

उत्तराखंड में मानसून की बारिश आफत बनी हुई है। तीन दिन से हो रही मूसलधार वर्षा से चारधाम राजमार्ग समेत 190 से अधिक मार्ग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। वहीं मौसम विभाग ने प्रदेशभर में  तीन दिनों के लिए भारी बारिश की आशंका जताई है। इसके तहत  प्रदेश के आठ जिलों देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, टिहरी, नैनीताल, बागेश्वर, चंपावत और ऊधमसिंहनगर में कहीं-कहीं बहुत भारी से अत्यंत भारी वर्षा को लेकर अलर्ट जारी किया है।

इन जिलों के लिए रेड अलर्ट 

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया, 23 और 24 अगस्त को टिहरी, देहरादून, पौड़ी, बागेश्वर, चम्पावत, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिले में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। कहा, इन तीन दिनों में प्रदेश भर के सभी इलाकों में तेज बारिश होने की आशंका है।

यह भी पढ़ें 👉  होशियार:ऋषिनगरी मे डिफेन्स की नकली शराब,लोगों की सेहत से खिलवाड़, वीडियो

ऋषिकेश-देवप्रयाग हाईवे बंद
टिहरी में बारिश का सिलसिला जारी है। ऋषिकेश-देवप्रयाग राष्ट्रीय राजमार्ग देवप्रयाग डिग्री कॉलेज के पास मलबा आने से बंद हो गया है। गंगोत्री राजमार्ग भी बागड़धार के पास बंद है। वर्षा होने के कारण जेसीबी मशीनें अभी काम नही कर पा रही है। जिले में हल्की बारिश जारी है।

यह भी पढ़ें 👉  नियम:इन महाशय के लिए कंहा गया उत्तराखंड पुलिस का नियम? पुलिस पर प्रश्नचिन्ह

ऋषिकेश में जल भराव से लोग परेशान 
ऋषिकेश में  सुबह से लगातार हो रही बारिश ने आमजन की परेशानी फिर बढ़ा दी है। कई जगह जल भराव से लोग प्रभावित हुए हैं। जनपद टिहरी गढ़वाल के ढालवाला औद्योगिक क्षेत्र में जंगल से आने वाला पानी आबादी में स्थित कारखाने में घुस गया। कई फैक्ट्रियों में उत्पादन प्रभावित हुआ है। यह क्षेत्र हालांकि ऊंचाई में स्थित है, यहां स्थिति यह है कि भूमिगत जल स्तर सतह तक पहुंच गया है। यहां लगे हैंडपंप और बोरवेल से स्वंय पानी निकल रहा है। कारखाना स्वामी और मजदूर अपने स्तर पर पानी निकालने में जुटे हैं। आबादी क्षेत्र में भी जल भराव से काफी नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

कोटद्वार में बारिश से मार्ग बंद

कोटद्वार में बीती रात से लगातार बारिश जारी है। नजीबाबाद बुआखाल राष्ट्रीय राजमार्ग कोटद्वार दुगड्डा के मध्य कई स्थानों पर बंद है। वैकल्पिक मार्ग के रूप में प्रयोग किया जाने वाला कोटद्वार-रामणी-एता मोटर मार्ग भी बंद पड़ा हुआ है। जिस कारण कोटद्वार से पर्वतीय क्षेत्रों की ओर वाहनों का संचालन फिलहाल ठप है।

Most Popular

To Top