उत्तराखंड

नरेंद्रनगर रेंज में आग पर वन विभाग की टीम ने पाया काबू, सूचना देने वालों को किया जाएगा पुरस्कृत

उत्तराखंड के जंगलों की आग निरंतर विकराल रूप ले रही है. वनों में लगी आग की वजह से कुमाऊं और गढ़वाल में वन संपदा को नुकसान पहुंच रहा है। तो वहीं आग पर काबू पाने के लिए वन विभाग मुस्तैदी से जुटा हुआ है। मामला नरेंद्रनगर रेंज का है। यहां कुंजापुरी हिंडोलाखाल के समीप खेत में आड़ा जलाते समय आग ने जंगल तक पहुंच गई।

आग के विकराल रूप लेने से पहले समय से पहुंची वन विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया। साथ ही आमजन से वनाग्नि रोकथाम को लेकर अपील भी की है। और आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कर सूचना देने वाले को पुरस्कृत किया  जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  वेलडन:SGRR मेडिकल कॉलेज के मृदुल कैंसर रोगियों के लिए बने नई मिसाल

आग की सूचना पर मौके पर पहुंची फारेस्ट क्रू स्टेशन नरेंद्र नगर एवं देवलधार की टीम ने आग को नियंत्रण में किया। बताया जा रहा है कि उक्त स्थल के समीप बांज का घना जंगल है किंतु आग को वहाँ पहुँचने से पहले रोक दिया गया, इस प्रकार एक बहुत भयानक वन अग्नि को समय रहते कंट्रोल कर लिया गया, इसके पश्चात् वन विभाग की टीम ने आग लगाने के कारण का पता लगाने के लिए पूछताछ की तो पता चला कि गाँव की महिला – सतेश्वरी देवी W/O स्वo गंभीर सिंह निवासी सोनी, पो० ओo- दुआधार, टिहरी गढ़वाल ने अपने खेतों में आड़ा जलाया था जो अनियंत्रित हो गया, जिसके पश्चात आग जंगल की और चली गई।

यह भी पढ़ें 👉  ऋषिकेश- हनुमान घाट पर डूबा युवक, SDRF चला रही सर्च ऑपरेशन

वन क्षेत्राधिकारी विवेक जोशी ने बताया कि महिला के ख़िलाफ़ भारतीय वन अधिनियम के तहत मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है, उन्होंने अपना जुर्म क़बूल कर लिया है एवं अपराधी का नाम बताने वाले का नाम गुप्त रखा गया है एवं शीघ्र ही उन्हें पुरुस्कृत किया जाएगा। टीम में अनुज राठौर वन दरोग़ा ,ललित मोहन थपलियाल वन दरोग़ा, शिव प्रसाद कैन्थोला वन आरक्षी, राजपाल रावत, जगमोहन नेगी तथा अन्य फायर वाचर थे।

यह भी पढ़ें 👉  Rishikesh AIIMS में नर्सिंग आफिसर्स को अभद्र भाषा बोलने पर फिर हुआ बवाल

Most Popular

To Top