उत्तराखंड

ऋषिकेश मे व्यथित माता-पिता को अपने इकलौते बेटे की 70 दिन से तलाश

Enter ad cod

ऋषिकेश। ऋषिकेश में हनुमंतपुरम गंगानगर निवासी एक युवक पिछले 70 दिनों से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता है। पुलिस अभी तक युवक को तलाश नहीं कर पाई है। घर का इकलौता बेटा होने की वजह से माता-पिता बेहद ज्यादा परेशान और बेबस नजर आ रहे हैं। माता-पिता का कहना है कि वह ऋषिकेश कोतवाली पुलिस से लेकर डीजीपी तक से अपने बेटे को तलाश करने के लिए गुहार लगा चुके हैं। मगर अभी तक बेटा नहीं मिला है। यदि उन्हें जल्दी बेटा नहीं मिला तो वह भी अपने जीवन लीला समाप्त कर देंगे।

यह भी पढ़ें 👉  हरदा:राज्य सरकार कर रही. उपनल की अनदेखी

गंगानगर हनुमंतपुरम गली नंबर 6 में रहने वाले पंकज कौशिक और रेखा कौशिक ने बताया कि उनका एक 23 वर्षीय बेटा मयंक कौशिक है। जो ऋषिकेश के एक निजी क्लीनिक में नौकरी करता है। 30 सितंबर की रात को बेटा नौकरी से वापस आया और खाना खाने के बाद वॉक करने के लिए घर से बाहर निकल गया। काफी देर बाद बेटे का घर पर फोन आया कि वह वॉक करके थोड़ी देर में आ जाएगा। लेकिन रात 11:00 बजे के बाद बेटे का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया और वह घर पर नहीं लौटा। बेटे की चिंता होने पर वह कोतवाली पुलिस से मदद लेने पहुंचे। मगर पुलिस ने उनको अगले दिन आने के लिए कहा। एक अक्टूबर को पुलिस ने बेटे की गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू की। लेकिन पुलिस को बेटा कहीं नहीं मिला। जिसके बाद वह बेटे की तलाश तेज करवाने के लिए डीजीपी से भी मुलाकात करने पहुंचे। डीजीपी ने बेटे को जल्द तलाशने का आश्वासन दिया। फिर भी उनका बेटा घर नहीं लौटा है। बूढ़े माता-पिता अब रो-रो कर अपने बेटे को तलाश करने के लिए शहर वासियों से मदद मांग रहे हैं। माता-पिता का कहना है कि यदि उनका इकलौता बेटा जल्दी ही वापस नहीं मिला तो वह भी अपनी जीवन लीला समाप्त करने से पीछे नहीं हटेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  आपत्ति:नये कुलाधि पति के शपथ के बाद,इस जगह निराशा ऐसा क्यों पढ़ें,,

Most Popular

To Top