उत्तराखंड

जिला प्रशासन की नजर में गंदगी और अनियमितता: होटल और रेस्टोरेंटों के निरीक्षण में कई उल्लंघन

जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में जिला प्रशासन एवं नगर निगम की टीम द्वारा आज प्रिंस चौक, गांधी रोड, त्यागी रोड, रेलवे स्टेशन आदि स्थानों में होटल, रेस्टोरेंट, मांस की दुकानों का औचक निरीक्षण किया।
तहसीलदार सदर मोहम्मद शाहदाब एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी नगर निगम रमेश सिंह, के नेतृत्व में टीम द्वारा जांच अभियान चलाया गया, जिसमें मानकों के अनुसार व्यवस्था एवं गुणवत्ता न होने के फलस्वरूप टीम द्वारा 11 प्रतिष्ठानों के चालान करते हुए, आख्या अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व तथा जिलाधिकारी को प्रस्तुत की गई।

टीम द्वारा निरीक्षण के दौरान रेलवे स्टेशन के समीप होटल मीडो की किचन में गंदगी पाई गई तथा मांस भी गंदी अवस्था में रखा पाया गया, साथ ही फूड सेफ्टी लाइसेंस की वैधता समाप्त पाई गई, मांस का बिल दिखाने पर बिल प्रस्तुत नहीं किया गया जिस पर टीम द्वारा दुकान का चालान किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  शुभकामनायें:कृषिमंत्री ने लोक सेवा आयोग से चयनित अभ्यर्थियों को बांटे नियुक्ति पत्र

इसी प्रकार तरुण आहूजा रॉयल रेस्टोरेंट में सफाई व्यवस्था असंतोषजनक पाई गई, खाद्य सामग्री का नमूना लिया गया। ऋषिपाल मीट की दुकान पर लाइसेंस पाया गया, किंतु सफाई व्यवस्था असंतोषजनक पाई गई।
पंजाबी ढाबा प्रिंस चौक पर निरीक्षण के दौरान प्रतिष्ठान पर लाइसेंस पाया गया, किंतु मेडिकल एवं वॉटर टेस्टिंग रिपोर्ट नहीं पाई गई तथा सफाई का स्तर भी असंतोषजनक पाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  कमाई:सूबे में पढ़ाई के साथ कमाई भी करेंगे छात्र-छात्राएंः डा. धन सिंह रावत

शमशेर सिंह मीट की दुकान पर लाइसेंस नहीं पाया गया तथा सफाई व्यवस्था भी असंतोषजनक पाई गई। रॉयल मुरादाबादी बिरयानी (ईदगाह)पर लाइसेंस की वैधता समाप्त पाई गई तथा सफाई व्यवस्था भी असंतोषजनक पाई गई। होटल सिद्धार्थ पैराडाइज में वेस्ट कंट्रोल सर्टिफिकेट नहीं पाया गया तथा मांस का बिल भी प्रस्तुत नहीं कर पाए। अमृतसरी फिश कॉर्नर में लाइसेंस नहीं पाया गया, सफाई व्यवस्था भी असंतोषजनक पाई गई, पनीर सैंपल का नमूना लिया गया। पंजाबी रसोई में लाइसेंस नहीं पाया गया तथा सफाई व्यवस्था भी असंतोषजनक पाई गई, मांस का बिल भी उपलब्ध नहीं करा पाए। येलो चिल्ली रेस्टोरेंट में लाइसेंस प्रस्तुत नहीं कर पाए तथा सफाई व्यवस्था भी असंतोषजनक पाई गई, मांस का बिल भी उपलब्ध नहीं करा पाए

यह भी पढ़ें 👉  सीएम धामी ने नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री की शपथ लेने पर दी बधाई

अनमोल ट्रेडिंग द्वारा लाइसेंस प्रस्तुत नहीं किया गया तथा कॉफी, चॉकलेट पाउडर ग्रीन टी आदि सामग्री एक्सपायर पाई गई, टीम द्वारा अन्य खाद्य सामग्री के सैंपल लिए गए।

टीम द्वारा सभी प्रतिष्ठानों में अन्य नेता पाए जाने पर सभी के चालान किए गए तथा नियम अनुसार कार्रवाई हेतु सक्षम प्राधिकारी को आख्या प्रस्तुत की गई।

Most Popular

To Top