उत्तराखंड

चंपावत बलात्कार केस: कांग्रेस का प्रदर्शन, सरकार पर कानून व्यवस्था में लापरवाही का आरोप

ऋषिकेश 31 दिसंबर। चंपावत में नाबालिक लड़की के साथ हुई रेप की घटना से तीर्थनगरी ऋषिकेश में कांग्रेसियों का गुस्सा सातवें आसमान पर दिखा। एकत्रित हुए कांग्रेसियों ने प्रदेश में कानून व्यवस्था लचर होने का आरोप लगाते हुए भाजपा सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। सड़क के बीच पुतला भी जलाया।
रविवार को रेलवे रोड स्थित कांग्रेस भवन के सामने एकत्रित हुए कांग्रेसियों ने चंपावत में हुई नाबालिक से दुष्कर्म की घटना का पुरजोर विरोध जताया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। महानगर अध्यक्ष राकेश सिंह, महिला कांग्रेस अध्यक्ष नीलम तिवारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि चंपावत में भाजपा के मंडलध्यक्ष द्वारा एक नाबालिग लडकी के साथ दुष्कर्म कर प्रदेश की कानून व्यवस्था को धता बताया है। कहां की आज उत्तराखंड में होने वाले अधिकतर मामलोें में भाजपा के नेता एवं उनके कार्यकर्ता संलिप्त पाये जा रहे हैं। पुलिस प्रशासन भी भाजपा के नेताओं के दबाव में काम कर रही है। 8 घंटे के लंबे इंतजार और भारी जद्दोजहद के बाद अन्त्तोगत्वा भारी जन दबाव के चलते गंभीर धाराओं और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है आखिर यह सब जुल्म उत्तराखंड की नारी कब तक सहती रहेगी।

यह भी पढ़ें 👉  बुलेटिन:शाम की देश राज्यों से बड़ी खबरें फटाफट अंदाज मे

एक स्वर में कहा कि अगर भाजपा सरकार ने पहले हुए इन कुकृत्यों पर कठोर सजा दिलाने का प्रयास किया होता तो इन घटनाओं की बार-बार पुनरावृत्ति नहीं होती।
विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस नेता जयेंद्र रमोला, श्यामपुर ब्लॉक अध्यक्ष विजय पाल रावत, रुकम पोखरियाल, ऋषि सिंघल, मदन मोहन शर्मा, शैलेंद्र बिष्ट, ललित मोहन मिश्र, सुधीर राय, भगवान सिंह पंवार, मुकेश जाटव, कमल बनर्जी, प्रवीण गर्ग, विक्रम भंडारी, प्यारेलाल जुगरान, राजेंद्र कोठारी, अशोक शर्मा, मनीष जाटव, विनोद रतूड़ी, राम कुमार बतालिया आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  बयान:शपथ लेते ही भाजपा सांसद ने क्यों? कही मंत्री पद छोड़ने की बात

Most Popular

To Top