उत्तराखंड

Breaking:मंत्री प्रेमचंद ने वितरित किये श्रमिकों को जरूरत की किट



ऋषिकेश। क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डा. प्रेमचंद अग्रवाल ने ऋषिकेश विधानसभा के 50 पंजीकृत निर्माण कार्य से जुड़े श्रमिकों को छाता, कंबल, जबकि महिला श्रमिकों को सेनेट्री पैड वितरित किए। इस दौरान पंजीकृत श्रमिकों का निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया। जिसमें केएफटी, एलएफटी, सुगर, ब्लड प्रेशर, कैल्शियम, विटामिन, लीवर जैसी 25 बीमारियों की निशुल्क जांच की गई।

बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय में सामग्री वितरित कर डा. अग्रवाल ने कहा कि राज्य की धामी सरकार श्रमिकों के कल्याण के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है, जिसका लाभ श्रमिकों को उठाना चाहिए। इसके लिए डा. अग्रवाल ने श्रम विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया।

डा. अग्रवाल ने बताया कि श्रमिकों के लिए श्रम विभाग के उत्तराखंड भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड में बहुत प्रावधान धामी सरकार द्वारा किए गए हैं। बताया कि विवाह सहायता योजना जिसमें पंजीकृत निर्माण श्रमिकों की आश्रित दो पुत्रियों के विवाह के दौरान व महिला कर्मकारों को स्वयं के विवाह के दौरान 51000 रूपये की आर्थिक मदद दी जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  बयान: सीएम धामी ने अग्निवीर योजना को लेकर दिया बड़ा बयान, आ सकता है बड़ा एक्ट

डा. अग्रवाल ने बताया कि सामूहिक कन्या विवाह सहायता योजना के तहत सरकार द्वारा विवाह के एक सप्ताह पूर्व वर और वधू की पोशाक के लिए 5000 जबकि सामूहिक विवाह के दौरान 51000 रूपये डीबीटी के माध्यम से दी जाएगी।

डा. अग्रवाल ने बताया कि प्रसूति सहायता योजना के तहत महिला कामगारों व श्रमिकों की पत्नियों को प्रसूति सुविधा के रूप में 6000 रूपये दिए जाते हैं। बताया कि कार्य के दौरान पंजीकृत श्रमिक की मृत्यु होने के संबंध में 04 लाख रूपये जबकि सामान्य मृत्यु होने की दशा में मृतक कर्मकार के आश्रितों को 02 लाख रूपये की आर्थिक सहायता की जाती है। बताया कि मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार के लिए 10000 रूपये की भी सहायता दी जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  अलर्ट: उत्तराखंड के इन जिलों में भारी बरसात की चेतावनी , हेल्पलाइन नंबर जारी

डा. अग्रवाल ने बताया कि श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा में आर्थिक सहायता के लिए भी प्रावधान है। जिसमें कक्षा एक से 05 तक 1800 रूपये वार्षिक, कक्षा छह से 10 तक 2400 रूपये वार्षिक, कक्षा 11 से 12 तक 3000 रूपये वार्षिक तथा स्नातक या इससे अधिक पर 10000 रूपये वार्षिक सहायता दी जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  जलाभिषेकः  श्री केदारनाथ धाम सहित शिव मंदिरों में तीर्थयात्रियों ने किया जलाभिषेक, बड़ी संख्या में पहुंच रहे कांवडिये

डा. अग्रवाल ने बताया कि सरकार श्रमिकों के लिए अन्य योजनाएं भी जैसे वृद्धा पेंशन सहायता, निशक्ता सहायता योजना, कुटुंब पेंशन सहायता, गृह निर्माण ऋण योजना, शौचालय योजना, चिकित्सा सहायता योजना आदि संचालित कर रही है। डा. अग्रवाल ने मौके पर मौजूद श्रम विभाग के अधिकारियों को योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए श्रमिकों को जानकारी देने के निर्देश दिए।

इस मौके पर मंडल अध्यक्ष सुमित पंवार, जिला उपाध्यक्ष दिनेश सती, प्रधान संगठन के प्रदेश प्रवक्ता सोबन सिंह केंतुरा, प्रधान सागर गिरी, लेबर इंस्पेक्टर पिंकी टम्टा, पूर्व पालिकाध्यक्ष शंभू पासवान, निवर्तमान पार्षद विकास तेवतिया, संजीव पाल, व्यापारी नेता अखिलेश मित्तल, ललित जिंदल, श्रम विभाग से अतुल डोभाल, गुंजन, राजपाल नेगी, रबिल कुमार आदि उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top