उत्तराखंड

Breaking:भाजपा विधायक पर मुकदमा दर्ज,क्या होगी गिरफ्तारी?



देहरादून। BJP विधायक महेश जीना को सत्ता की हनक और गुंडई महंगी पड़ती नजर आ रही है। नगर निगम में नगर आयुक्त गौरव कुमार और अन्य कर्मचारियों के साथ अभद्रता मामले मे भाजपा विधायक महेश जीना के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट अनुसार विधायक पर बलवा, सरकारी कार्य में बाधा डालने, गाली- गलौज व जान से मारने की धमकी देने का आरोप है। मुकदमे में चार अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया। नगर निगम चालक संघ के सचिव यशपाल सिंह ने कोतवाली में तहरीर दी थी, जिसके बाद मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  कार्रवाई: ED की बड़ी कार्रवाई, अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स माफिया की करोड़ो की संपत्ति कुर्क

ये है पूरा मामला

सल्ट से भाजपा विधायक महेश जीना ने मंगलवार को नगर निगम में जमकर हंगामा किया था। आरोप है कि परिचित का टेंडर निरस्त होने पर विधायक ने पहले कर्मचारियों के साथ गालीगलौज की, इसके बाद कार्यालय में घुसकर नगर आयुक्त के साथ बदसलूकी और गालीगलौज की।

नगर निगम की ओर से सहस्रधारा रोड स्थित लीगेसी वेस्ट को खत्म करने के लिए टेंडर डाले गए थे। टेक्निकल बिड में पांच कंपनियां ही पहुंची थीं। इनमें तीन कंपनियों को मानक पूरा न करने पर बाहर दिया था। इसमें से एक कंपनी सल्ट से विधायक के परिचित की थी।

यह भी पढ़ें 👉  बयान: सीएम धामी ने अग्निवीर योजना को लेकर दिया बड़ा बयान, आ सकता है बड़ा एक्ट

टेंडर निरस्त होने से बौखलाया विधायक समर्थकों के साथ नगर निगम पहुंचा। पहले सहायक आयुक्त एसपी जोशी के कार्यालय में जाकर कर्मचारियों को टेंडर की फाइल दिखाने को कहा। एसपी जोशी मौके पर मौजूद नहीं थे।

वो यहीं नहीं रुके इसके बाद वहां मौजूद हेड क्लर्क पवन थापा को जिसका टेंडर खुला है, उसकी फाइल दिखाने को कहा। हेड क्लर्क ने जब फाइल दिखाने से मना किया तो विधायक ने पवन थापा के साथ गालीगलौज और बदतमीजी शुरू कर दी।

हेड क्लर्क जब इस बात को लेकर नगर आयुक्त का पहुंचा तो विधायक महेश जीना भी नगर आयु कार्यालय में पहुंच गया। टेंडर को लेकर उनकी नगर आयुक्त के साथ बहस हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  खुशखबरी: मुख्यमंत्री विद्यार्थी कल्याण योजना-2024 का शुभारंभ, जानें किसे मिलेगा लाभ

विधायक टेंडर की फाइल और जिस कमी के कारण उनके परिचित का टेंडर निरस्त किया गया, उसके बारे में बताने को कहने लगे। जब नगर आयुक्त ने मना किया तो विधायक आक्रोशित हो गए और आरोप है कि उन्होंने नगर आयुक्त के साथ बदसलूकी शुरू कर दी।

शोर सुनकर नगर निगम के कर्मचारी भी वहां पहुंच गए। कर्मचारियों के सामने भी विधायक सत्ता की हनक दिखाते रहे। बाद में और कर्मचारियों के जमा होने पर विधायक धमकी देकर वहां चले गया।

Most Popular

To Top