उत्तराखंड

आस्था: नि महापौर अनिता ममगाई ने रामनवमी पर्व पर तपोवन में संत समेलन में किया प्रतिभाग

ऋषिकेश। रामनवमी के पावन पर्व पर संत सम्मेलन में प्रतिभाग किया नि महापौर अनिता ममगाईं ने गुरुवार को लक्ष्मण मंदिर,तपोवन में नि महापौर अनिता ममगाईं ने संत सम्मेलन में प्रतिभाग किया। इस दौरान उन्होंने कहा जिस तरफ श्री राम लला आज भव्य मंदिर में विराजे हैं और जैसे कल सूर्य तिलक लगाने का जो दृश्य वह एक अद्भुत दृश्य व अलौकिक था। ये माहौल, ये ऊर्जा और पल प्रभु श्री राम का आशीर्वाद है। संतों से आशीर्वाद लेने के बाद उन्होंने कहा आज हर कोई ख़ुशी मना रहा है. प्रभु श्री राम उन्होंने कहा राम मंदिर राष्ट्रीय चेतना का मंदिर है। वे आज भव्य मंदिर में विराजे हैं। देश विदेश से करोड़ों भक्त दर्शन के लिए अयोध्या पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  वेलडन:SGRR मेडिकल कॉलेज के मृदुल कैंसर रोगियों के लिए बने नई मिसाल

उसके बाद नि महापौर अनिता ममगाईं रामानंद आश्रम मायाकुंड पहुंची. महामंडलेश्वर महंत अभिराम दास महाराज का उन्होंने आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर महाराज ने कहा आज ख़ुशी हो रही है प्रभु राम लला विराज मान हुए हैं। उन्होंने कहा जब भी कोई धार्मिक काम होता है खुशहाली आती है। लोगों में ख़ुशी का संचार होता है। यही प्रभु का रास्ता है। आपसी प्रेम भाव बढ़ता है, सेवा भाव आता है मन में भगवान् के प्रति इस अवसर पर उन्हूने कहा संतों का आशीर्वाद लेना सौभाग्य की बात है। राम नवमी के अवसर पर भगवान् श्री राम लला आज जिस तरह से मंदिर में विराजमान है यह एक शसक्त मजबूत सरकार की वजह से हुआ है. उन्हूने कहा राम लल्ला अर्थात “शिशु राम” है, विशेष रूप से भगवान राम के शिशु रूप को संदर्भित करता है। किंवदंती है कि भगवान राम का जन्म अयोध्या के शाही महल में हुआ था, जिसे जन्मभूमि (जन्म भूमि) के रूप में जाना जाता है. इस अवसर पर पंकज शर्मा, मनीष मनवाल, विजय लक्ष्मी भट्ट,राजेश गोतम, शैलेंद्र रस्तोगी, अमित कुमार, अजय दास, दीपक मंडल, रमेश कुमार, काशीनाथ मंडल, चिरजीव लाल, ऊषा मंडल, निहारिका, नीरज, सरमीठा, भगवती मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  ‘मानसखंड मंदिर माला मिशन’ को लेकर सीएम धामी की मेहनत ला रही रंग

Most Popular

To Top