उत्तराखंड

Uttarkashi Tunnel Rescue Live Update: बस कुछ मीटर और…फिर मिल जाएगी जिंदगी! आखिरी पड़ाव में रेस्क्यू

दिवाली के दिन से उत्तरकाशी की निर्माणाधीन सुरंग में कैद 41 श्रमिक कभी भी बाहर निकाले जा सकते हैं। सुरंग के अंदर मेडिकल की टीम पहुंच गई है। मजदूरों के परिजनों को भी सुरंग के पास बुलाया है। परिजन मजदूरों के साथ अस्पताल जाएंगे। फंसे हुए मजदूरों को निकालने के बाद शुरुआत में उन्हें वहीं पर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जाएगी और उसके बाद उन्हें अस्पताल भेजा जाएगा।

अभी दो मीटर खुदाई बची है

एनडीएमए के सदस्य लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) सैयद अता हसनैन ने कहा कि हम कामयाबी के करीब हैं। अभी 2 मीटर की खोदाई बची है। अभी मैनुअल काम चल रहा है। हम 58 मीटर खुदाई कर चुके हैं। अंदर फंसे मजदूरों ने कहा है कि वे काम होने की आवाजें सुन सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  महंत देवेन्द्र दास ने अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर देशवासियों को दी बधाई, दिया ये संदेश

सुरंग से निकालने के बाद मजदूरों को किया जा सकता है एयरलिफ्ट
सिल्क्यारा सुरंग से श्रमिकों को निकालने के बाद एयरलिफ्ट किया जा सकता है। इसको लेकर चिन्यालीसौर हवाई पट्टी पर चिनूक हेलीकॉप्टर तैनात किया गया है।

बनाया गया टेंपररी अस्पताल
बचाव अभियान के चलते सुरंग के अंदर अस्थायी चिकित्सा सुविधा का विस्तार किया गया है। फंसे हुए मजदूरों को निकालने के बाद यहीं पर स्वास्थ्य प्रशिक्षण दिया जाएगा। किसी भी तरह की दिक्कत होने पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से 8 बेड की व्यवस्था की गई है और डॉक्टरों व विशेषज्ञों की टीम तैनात की गई है।

रैंप बनते ही मजदूरों को निकाला जाएगा बाहर
एक्यूरेट कंक्रीट सॉल्यूशंस के एमडी अक्षत कात्याल कहते हैं कि पाइप को बिना किसी बाधा के बहुत सावधानी से अंदर धकेला गया है, एक सफलता हासिल की गई है और पाइप गुजर गया है। मजदूरों को बचाने का काम शुरू हो गया है। कम से कम तीन लोग हैं। चार चरण में रेस्क्यू ऑपरेशन होगा। एनडीआरएफ की टीमें अंदर घुस चुकी हैं। रैंप बनते ही मजदूरों को बाहर निकाला जाएगा

यह भी पढ़ें 👉  चारधाम धाम यात्रा करने के लिए बुजुर्गों व युवाओं के साथ बच्चों में उत्साह, देखें आकंड़े

टनल के अंदर ही दिया जाएगा प्राथमिक उपचार

बचाव अभियान के चलते सुरंग के अंदर अस्थायी चिकित्सा सुविधा का विस्तार किया गया है। फंसे हुए मजदूरों को निकालने के बाद यहीं पर स्वास्थ्य प्रशिक्षण दिया जाएगा। किसी भी तरह की दिक्कत होने पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से आठ बेड की व्यवस्था की गई है और डॉक्टरों एवं विशेषज्ञों की टीम तैनात की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कल धामी कैबिनेट की बैठक, तैयारियां तेज

सीएम धामी ने रेस्क्यू टीमों को दी बधाई

उत्तरकाशी की सिलक्यारासुरंग में सफलतापूर्वक पाइप डालने पर सीएम धामी ने रेस्क्यू टीमों को बधाई दी। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए लिखा बाबा बौखनाग जी की असीम कृपा रही। करोड़ों देशवासियों की प्रार्थना एवं रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे सभी बचाव दलों के अथक परिश्रम के फलस्वरूप श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए टनल में पाइप डालने का कार्य पूरा हो चुका है। शीघ्र ही सभी श्रमिक भाइयों को बाहर निकाल लिया जाएगा।

 

 

 

Most Popular

To Top