Entertainment

श्रद्धा:मुस्लिम देश मे भी राम का उत्सव,पढ़ें,जाने

Enter ad cod

नेशनल:Ram Mandir in Indonesia दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में रामायण का प्रभाव आज भी है। यहां की आबादी में मुस्लिम अधिक होने के बावजूद राम उनके पूजयीय हैं। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा होने जा रही है। ऐसे में इसका जश्न इंडोनेशिया सहित दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में भी मनाया जा रहा है। Muslim-majority country #RamMandirPranPrathistha

 

इंडोनेशिया मंदिरों का सांस्कृतिक केंद्र

इंडोनेशिया को शानदार मंदिरों और सांस्कृतिक विविधता का देश माना जाता है। यहां आज भी पारंपरिक रूप से रामलीला का मंचन किया जाता है। कई हिंदु मंदिर यहां बने हुए हैं। केंद्रीय जावा में स्थित यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल प्राम्बानन मंदिर इस सांस्कृतिक संबंध का साक्षात्कार कराता है। जिसमें रामायण की कथा को चित्रित करने वाले जटिल स्थापत्य का साजगर्मी रूप है Ram Mandir। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा पर इंडोनेशिया के मंदिरों में भी कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

 

मंदिरों में हो रहे धार्मिक अनुष्ठान

रामलीला, भगवान राम Ram Mandir के जीवन का नृत्यात्मक वर्णन इंडोनेशिया में कई सदियों से होता आया है। विशेषकर नवरात्रि के दौरान यहां रामलीलाओं का मंचन होता है। हालांकि यहां रामलीला के किरदार कुछ अलग नजर आते हैं। पर कहानी पूरी तरह रामायण के पात्रों पर ही आधरित है। ऐसे में बाली, सुमात्रा सहित कई स्थानों पर बने मंदिरों में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा पर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। भक्ति के यह सार्वभौमिक विषय, धार्मिक सीमाओं को पार करके, लोगों के लिए एक साझा सांस्कृतिक धरोहर बन गया है। #RaRamMandirPranPrathistha

 

थाईलैंड, कंबोडिया तक पर असर

भगवान राम के मंदिरों का प्रभाव दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में है। थाईलैंड, कंबोडिया, लाओस में रामायण ने कला और स्थापत्य पर अविनाशी प्रभाव डाला है। मंदिर भगवान राम की श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। कंबोडिया का अंकोरवाट मंदिर समूह विश्व विरासत साइट घोषित है। भगवान राम के मंदिरों के मौजूद होने से सांस्कृतिक आदान-प्रदान और पर्यटन के लिए भी एक केंद्रबिंदु बन गया है।Ram Mandir

Most Popular

To Top