उत्तराखंड

ऋषिकेश: बस्ती सम्मेलन कार्यक्रम में मंत्री डा. प्रेमचंद अग्रवाल ने की शिरकत, विधायक निधि से सड़क के जीर्णाेद्वार कार्य करने की घोषणा



ऋषिकेश। नई जाटव बस्ती में सेवा पखवाड़ा के तहत बस्ती सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डा. प्रेमचंद अग्रवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग करते हुए सरकार के विकास कार्यों पर प्रकाश डाला। साथ ही नई जाटव बस्ती में गली संख्या दो में लगभग 150 मीटर जीर्णशीर्ण सड़क के जीर्णाेद्वार को विधायक निधि से घोषणा की।

कार्यक्रम का शुभारंभ संविधान निर्माता बाबा भीमराव अंबेडकर जी के चित्र पर डा. अग्रवाल ने पुष्पांजलि अर्पित कर किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश की कमान संभालने के बाद गरीब वर्ग का उत्थान हुआ। उन्होंने कहा कि पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत लगभग 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज, करीब 11.88 करोड़ लोगों को नल से जल, स्वच्छ भारत अभियान के तहत लगभग 11.72 करोड़ शौचालयों का निर्माण किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  आम बजटः उत्तराखंड को केंद्र ने दी सौगात, बजट में किया ये ऐलान,सीएम धामी ने किया धन्यवाद

डा. अग्रवाल ने बताया कि मोदी सरकार में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया। देश में लगभग 48.27 करोड़ जन-धान खाते खोले गए। पीएम आवास योजना के तहत लगभग 03 करोड़ से अधिक आवास दिए गए। देश में करीब 37 करोड़ आयुष्मान भारत हेल्थ एकाउंट बने है। उन्होंने बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि के माध्यम से 11 करोड़ से अधिक किसानों को 6 हजार रूपये सालाना दिये जा रहे है।

डा. अग्रवाल ने बताया कि कोविड काल में भारत ने दो स्वदेशी वैक्सीन बनाई। इससे भारतवासियों के अलावा अन्य देशों की मदद भी की गई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के साढ़े नौ सालों में सड़क, रेल, हवाई कनेक्टिविटी का देश में तेजी से विस्तार हुआ। स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत बनाने में हर क्षेत्र में तेजी से कार्य हुए है।

यह भी पढ़ें 👉  अलर्ट: उत्तराखंड के इन जिलों में भारी बरसात की चेतावनी , हेल्पलाइन नंबर जारी

डा. अग्रवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में राज्य की धामी सरकार का पूरा ध्यान विकास के नवरत्नों पर है। इसमें पहला रत्न- केदारनाथ-बद्रीनाथ धाम में 1300 करोड़ रुपए से पुनर्निर्माण का कार्य, दूसरा रत्न- ढाई हजार करोड़ रुपए की लागत से गौरीकुण्ड-केदारनाथ और गोविंदघाट-हेमकुण्ट साहिब रोपवे का कार्य, तीसरा रत्न- कुमायूं के पौराणिक मंदिरों को भव्य बनाने के लिये मानसखण्ड मंदिर माला मिशन का कार्य किया जा रहा है। इसके तहत पहले चरण में 16 मन्दिरों को शामिल किया गया है। चौथा रत्न- पूरे राज्य में होम स्टे को तेजी से बढ़ावा दिया जाना। पांचवा रत्न- राज्य में 16 ईको टूरिज्म डेस्टिनेशन का विकास, छठा रत्न- उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाओं का तेजी से विस्तार, उधमसिंह नगर में एम्स का सेटलाइट सेंटर भी बनाया जा रहा है। सातवां रत्न- करीब 2 हजार करोड़ रुपए की लागत वाली टिहरी लेक डेवलपमेंट परियोजना के कार्य किये जा रहे हैं। आठवां रत्न- ऋषिकेश-हरिद्वार का एडवेंचर टूरिज्म और योग की राजधानी के रूप में विकास किया जा रहा है और नौवा रत्न- टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन इस पर भी जल्द काम शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  खुशखबरी: मुख्यमंत्री विद्यार्थी कल्याण योजना-2024 का शुभारंभ, जानें किसे मिलेगा लाभ

इस मौके पर जिलाध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा राम किशन, मंडल अध्यक्ष सुमित पंवार, पूर्व पालिकाध्यक्ष शंभू पासवान, जिला उपाध्यक्ष दिनेश सती, जिला महामंत्री अनुसूचित मोर्चा विजेन्द्र मोंघा, कार्यक्रम संयोजक व मंडल अध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा राधे जाटव, नंद किशोर जाटव, माधवी गुप्ता, राकेश पारछा, रविंद्र बिरला, सतवीर जाटव, अनिल कुमार, प्रदीप कुमार, मितवा भंवर, श्याम किशोर, निशा सिंह, अनिता तिवाड़ी, सीमा रानी, ज्योति पांडेय, पार्षद शिव कुमार गौतम, अभिनव पाल, जगावर सिंह आदि उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top