उत्तराखंड

मेयर सुनील उनियाल ने नगर निगम की बोर्ड बैठक में प्रस्ताव लाने की घोषणा की



उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क – उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच ने राज्य आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली स्वर्गीय सुशील बलूनी की 84वीं जयंती के मौके पर मातृ शक्ति सम्मान समारोह का आयोजन किया। मंच ने सुशीला बलूनी के परिवार के संयुक्त प्रयासों से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत पांच महिलाओं को मातृशक्ति सम्मान से नवाजा। नगर निगम के प्रेक्षाग्रह में, कई राज्य आंदोलनकारी और महत्वपूर्ण व्यक्तियों ने स्व. सुशील बलूनी के समर्पण को याद किया और उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित किया। मातृशक्ति सम्मान के अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता आर्येंद्र शर्मा, मुख्यमंत्री के मीडिया समन्वयक हरीश कोठारी, पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, पूर्व राज्य मंत्री विवेकानंद खंडूड़ी, पूर्व मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, सम्मान परिषद के पूर्व अध्यक्ष रवींद्र जुगरान, और जनकवि अतुल शर्मा ने पांच महिलाओं को शॉल पहनाकर और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। आर्येंद्र शर्मा ने कहा कि सुशीला बलूनी ने हमेशा राज्य हित की रक्षा की और सरकार और प्रशासन से लड़ती रहीं। वह सुशील बलूनी के नाम पर किसी योजना या सम्मान की मांग करतीं थी। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि हरीश कोठारी ने मुख्यमंत्री का संदेश साझा किया। पहले आयोजन में जनकवि अतुल शर्मा ने कविता पढ़ी और जनगीत गाया। प्रदेश अध्यक्ष जगमोहन सिंह नेगी और जिला अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती ने सभी कार्यक्रमों का संचालन किया।

यह भी पढ़ें 👉  खुशखबरी: मुख्यमंत्री विद्यार्थी कल्याण योजना-2024 का शुभारंभ, जानें किसे मिलेगा लाभ

आंदोलन में सुशीला बलूनी के साथ रहने वाली रामेश्वरी बड़थ्वाल, पुष्पलता सिलमाणा, मुन्नी खंडूड़ी, सत्या पोखरियाल, शोभा बहुगुणा, गुरदीप कौर, कुसुमलता शर्मा, सरिता गौड़, और सुलोचना भट्ट ने उनके महान आदर्शों का पालन करने की अपील की। इसके साथ ही, रामपाल को भूख हड़ताल पर बैठने के लिए शॉल ओढ़कर सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  आम बजटः उत्तराखंड को केंद्र ने दी सौगात, बजट में किया ये ऐलान,सीएम धामी ने किया धन्यवाद

कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिक संगठन के अध्यक्ष केएल अरोड़ा, प्रदेश अध्यक्ष अतुल जोशी, शशी बहुगुणा, डॉ. अतुल शर्मा, गन्ना समिति के अध्यक्ष मनोज नौटियाल, ओमी उनियाल, विनोद नौटियाल, जगमोहन मेहंदीरत्ता, केशव उनियाल, रामलाल खंडूड़ी, जयदीप सकलानी, विनय बलूनी, संजय बलूनी, विजय बलूनी, सुरेन्द्र सजवाण, बीर सिंह रावत, विनोद असवाल, सुमन भण्डारी, सुरेश नेगी, पुष्कर बहुगुणा, मोहन खत्री, राजीव तलवार, चन्द्र किरण राणा, राजकुमार कक्कड़, सतेन्द्र नौगांई, गौरव खंडूड़ी, रविन्द्र सोलंकी, सतेन्द्र भण्डारी, जगदीश चौहान, गणेश शाह, कुलदीप कुमार, देव नौटियाल, सुमित थापा, जितेन्द्र चौहान, मोहन रावत, और गणेश डंगवाल, राधा तिवारी, अरुणा थपलियाल, और पार्वती डोभाल भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  Big news:केदारनाथ मार्ग पर दरकी चट्टान, मलबे मे दबे तीन इंसान

Most Popular

To Top