उत्तराखंड

Uttarakhand Tunnel Crash News Live : सुरंग पर वर्टिकल ड्रिलिंग से बचाई जाएगी 41 मजदूरों की जान, घटनास्थल पर पहुंची मशीन

उत्तरकाशी।  चारधाम ऑलवेदर परियोजना की सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों की जिंदगी बचाने के लिए बचाव अभियान चल रहा है। बीते 13 दिनों से सुरंग में 41 जान जोखिम में हैं। रेस्क्यू की राह में कई तरह के अवरोध आ रहे हैं। हालांकि आज 14वें दिन उम्मीद की जा रही है सभी मजदूर सकुशल बाहर आ जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून एयरपोर्ट पर दो एयरोब्रिज शुरू, हवाई यात्रियों ने एयरोब्रिज से की आवाजाही

वर्टिकल ड्रिलिंग पर होगा विचार

सिलक्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों का खोज बचाओ अभियान निरंतर चल रहा है।  मलबे में बनाई गई एस्केप टनल में गेट शुक्रवार शाम को ऑगर मशीन के कलपुर्जे क्षतिग्रस्त हुए। सुरंग में मौजूद अधिकारियों ने बताया कि अब वर्टिकल ड्रिलिंग पर विचार किया जा रहा है। थोड़ी देर में मीटिंग साइट पर सबसे बड़ी बैठक होने वाली है। जिसमें वर्टिकल ड्रिलिंग शुरुआत करने का फैसला लिया जाएगा। ओएनजीसी, एसजीवीएनएल व बीआरओ अब वर्टिकल ड्रिलिंग की तैयारी मे है।  संभवतः आज ही वर्टिकल ड्रिलिंग शुरू हो जाएगी। इसके लिए तैयारी भी की गई है। वर्टिकल ड्रिलिंग स्थल तक बीआरओ सड़क बना चुका है।

यह भी पढ़ें 👉  महंत इंद्रेश अस्पताल ने हासिल की एक और उपलब्धि, जनता उठा सकेगी नेत्र बैंक का लाभ

टीम को है एक ब्रेकथ्रू का इंतजार 

देश और विदेश के एक्सपर्ट को मिलाकर बनाई गई रेस्क्यू टीम को बस एक ब्रेकथ्रू का इंतजार है। यानी टनल में 6-6 मीटर के दो पाइप जैसे ही अंदर जाएंगे, रेस्क्यू टीम को एक बड़ा मौका मिल जाएगा और सुरंग में फंसे 41 मजदूरों के बाहर आने का रास्ता खुल जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  पहल:एम्स ऋषिकेश ने लाॅन्च किया ’क्लाइमेट न्यूजलेटर’

Most Popular

To Top