उत्तराखंड

दुःखद:बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने श्री केदारनाथ धाम के वेदपाठी मृत्युंजय हीरेमठ के निधन पर शोक जताया

उखीमठ/ देहरादून। श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति ( बीकेटीसी) अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने श्री केदारनाथ धाम में वेदपाठी का कार्य संभाल रहे मृत्युंजय हीरेमठ ( 31) के आकस्मिक निधन पर शोक- संवेदना जतायी है।

कहा कि मृत्युंजय हीरेमठ ने हमेशा निष्ठा एवं सेवा भाव से कार्य किया तथा शोसियल मीडिया में उनके शिव भक्ति स्त्रोत, भजन तथा लय पूर्ण गायन लोकप्रिय रहे।कहा कि उनके निधन से मंदिर समिति को अपूर्णीय क्षति हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  वेलडन:SGRR मेडिकल कॉलेज के मृदुल कैंसर रोगियों के लिए बने नई मिसाल

बीते कल शुक्रवार देर शाम को मृत्युंजय हीरेमठ का ह्रदयघात से आकस्मिक निधन हो गया। आज उन्हें मंदाकिनी तट पर समाधि दी गयी वहीं श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति ( बीकेटीसी)में शोक की लहर है।

दक्षिण भारत के जंगम शैव समुदाय से तालुक रखनेवाले मृत्युंजय हीरेमठ अविवाहित थे उनका परिवार अब स्थायी रूप से उखीमठ( रूद्रप्रयाग) में ही निवास करता है। उनके पिता गुरुलिंग भी केदारनाथ धाम के पुजारी के रूप में सेवा दे चुके है।उनके बड़े भाई शिवशंकर लिंग मंदिर समिति केदारनाथ प्रतिष्ठान में पुजारी के पद पर हैं।
मृत्युंजय हीरेमठ शिव स्त्रोतम् सहित, भगवान भोले नाथ के भजनों का लय वद्ध गायन करते थे सोशियल मीडिया में उनके भजनों को काफी प्रशंसा भी मिली।

यह भी पढ़ें 👉  निर्देश:धामी के ग्राउंड पर उतरते ही व्यवस्था हुई दुरस्त

बीकेटीसी मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि मृत्युंजय हीरेमठ के निधन की खबर मिलने पर मंदिर समिति के उखीमठ, जोशीमठ, देहरादून सहित सभी कार्यालयों, विश्रामगृहों में शोक सभा आयोजित हुई तथा दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया। बीकेटीसी उपाध्यक्ष किशोर पंवार, सदस्य श्रीनिवास पोस्ती एवं सभी सदस्यों,बीकेटीसी मुख्यकार्याधिकारी योगेंद्र सिंह,विशेष कार्याधिकारी रमेश सिंह रावत, मुख्य वित्त नियंत्रक आनंद सिंह, कार्याधिकारी आरसी तिवारी,अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी सहित सभी अधिकारियों कर्मचारियों ने शोक जताया।

यह भी पढ़ें 👉  नियम:इन महाशय के लिए कंहा गया उत्तराखंड पुलिस का नियम? पुलिस पर प्रश्नचिन्ह

Most Popular

To Top