उत्तराखंड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकुआं रेलवे स्टेशन की रखी आधारशिला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकुआं में 24 करोड़ के निवेश के साथ महत्वाकांक्षी रेलवे स्टेशन विकास परियोजना शुरू की।

भारत की रेल सेवाओं को आधुनिक बनाने की दिशा में एक अभूतपूर्व कदम में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकुआं रेलवे स्टेशन पर विकास कार्यों की शुरुआत का उद्घाटन किया, जो भारत अमृत स्टेशन योजना के तहत एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। यह भव्य आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुआ, जो क्षेत्र के उत्साहित निवासियों तक पहुंचा।

एकत्रित दर्शकों को संबोधित करते हुए, प्रधान मंत्री मोदी ने भारत के रेलवे क्षेत्र के लिए अपने दृष्टिकोण से अवगत कराया, और उन्नत रेल सेवाओं में खुद को वैश्विक नेता के रूप में स्थापित करने के देश के दृढ़ संकल्प पर जोर दिया। उन्होंने चल रही विकास परियोजनाओं को राष्ट्रीय प्रगति के प्रति सरकार की अटूट प्रतिबद्धता का प्रतीक बताया और इस परिवर्तनकारी यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका के लिए रेलवे की प्रशंसा की।

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

23.8 करोड़ के अनुमानित बजट के साथ लालकुआं रेलवे स्टेशन की व्यापक पुनर्विकास योजना की आधारशिला स्वयं प्रधान मंत्री द्वारा समारोहपूर्वक रखी गई। यह महत्वपूर्ण कदम राष्ट्र के लिए एक और ऐतिहासिक उपलब्धि है।

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी के प्रेरक शब्दों को देखने के लिए उत्सुक उत्साही नागरिकों की उल्लेखनीय उपस्थिति देखी गई। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने भी दर्शकों को संबोधित करने का अवसर लिया। अपने मार्मिक भाषण में, उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र के निवासियों द्वारा महसूस किए गए गौरव और सम्मान का जश्न मनाया, क्योंकि दूरदर्शी पुनर्विकास परियोजना ने लालकुआं रेलवे स्टेशन के कद को ऊंचा करने का वादा किया था।

यह भी पढ़ें 👉  लघु सिंचाई खंड नैनीताल के अधिशासी अभियंता गिरफ्तार, बरामद हुए इतने लाख रुपये

विशिष्ट सभा में लालकुआं विधायक मोहन बिष्ट, कालाढूंगी रामनगर नैनीताल भीमताल लालकुआं विधायक बंशीधर भगत, दीवान सिंह बिष्ट, सरिता आर्य, राम सिंह कैड़ा और डॉ. मोहन बिष्ट जैसी सम्मानित हस्तियां शामिल थीं। इस मौके पर कार्यक्रम के संयोजक प्रदीप बिष्ट, पूर्व विधायक नवीन चंद्र दुम्का, वरिष्ठ भाजपा नेता जगदीश चंद्र अग्रवाल, पंतनगर एयरपोर्ट अथॉरिटी के निदेशक हेमंत नरूला और पूर्व चेयरमैन संजय अरोड़ा भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  खुलासा:मेडिकल स्टूडेंट्स के सुसाइड मामलों मे NMC का खुलासा,SGRR केस मे भी यही कारण शत प्रतिशत

समारोह में स्कूली बच्चों की भागीदारी से मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया, जिसका समापन राष्ट्रगान की दिल छू लेने वाली प्रस्तुति से हुआ। यह आयोजन भारत की अदम्य भावना और प्रगति के निरंतर प्रयास के प्रमाण के रूप में खड़ा था।

 

जैसे ही भारत इस परिवर्तनकारी यात्रा पर आगे बढ़ रहा है, लालकुआं रेलवे स्टेशन की पुनर्विकास परियोजना अपनी रेल सेवाओं को आगे बढ़ाने और वैश्विक मंच पर अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए देश के अटूट समर्पण का प्रतीक है।

Most Popular

To Top