उत्तराखंड

देहरादूनः पेड़ों की छांव में होंगी सभी सड़कें, बिल्डर मार्ग को गोद लेकर करेंगे देखभाल 

देहरादून: शहर में लगातार बढ़ रही गर्मी के लिए लोग पिछले कुछ सालों में लगातार हुए पेड़ों को काटन को जिम्मेदार मान रहे हैं. देहरादून की ऐसी कई सड़के हैं, जो पहले घने पेड़ों के बीच में हुआ करती थी, लेकिन आज वहां से सड़क चौड़ीकरण के चलते पेड़ काट दिए गए हैं. ऐसे में मसूरी देहरादून प्राधिकरण शहर के बिल्डरों के साथ हरियाली को बढ़ावा देने जा रहा है.दरअसल एमडीडीए ने शहर में काम कर रहे सभी बड़े बिल्डरों की जिम्मेदारी तय की है कि वह शहर की सभी सड़कों को हरा-भरा बनाएंगे और इसके लिए हर एक बिल्डर एक सड़क को गोद लेगा.

यह भी पढ़ें 👉  केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहितों ने बनाया राज्य सूचना आयोग के सचिव अरविंद पांडे को बंधक,

एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी ने बताया कि शहर को हरा-भरा बनाने की इस पहल के तहत शहर में फलदार वृक्ष के साथ ही उन पेड़ों को लगाया जाएगा, जो विलुप्ति के कगार पर हैं. साथ ही तवज्जों उन पेड़ों को दी जाएगी, जो सबसे ज्यादा छायादार हैं. उन्होंने कहा कि पहल के तहत पीपल और बरगद के पेड़ लगाए जाएंगे. साथ ही नई सोसाइटी में वॉटर रिसोर्सेस टैंक बनाने और सौर ऊर्जा पर ज्यादा जोर देने के निर्देश दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कल धामी कैबिनेट की बैठक, तैयारियां तेज

बंशीधर तिवारी ने बताया कि जिन बिल्डरों का जहां पर प्रोजेक्ट है, वहीं पर उन्होंने एक-एक सड़क गोद ली है. वह पर वो बिल्डर पेड़ लगाने के साथ ही संरक्षण भी करेंगे. इस संबंध में जल्द ही स्कूलों और सामाजिक संस्थाओं के साथ बैठक आयोजित की जाएगी. उन्होंने कहा कि उन्हें खाली स्थान पर भी पेड़ लगाने के लिए कहा जाएगा.

यह भी पढ़ें 👉  “बिल लाओ इनाम पाओ योजना“ के तहत निकाले गये मार्च 2024 के विजेताओं के लक्की ड्रा 

Most Popular

To Top