उत्तराखंड

क़ृषि मंत्री गणेश ने उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद् प्रबन्ध समिति की बैठक में किए कुछ फैसले

Advertisement

प्रदेश के कृषि एवं उद्यान मंत्री गणेश जोशी की अध्यक्षता में देहरादून रिंग रोड़ स्थित वीर माधौ सिंह भण्डारी किसान भवन के प्रथम तल सभागार में उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद्  प्रबन्ध समिति की 7वीं बैठक की गई।

सर्वप्रथम बैठक में परिषद की विगत वर्षो की आय – व्यय विवरण पत्र प्रस्तुत करने के साथ ही गत बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार बोर्ड के द्वारा सम्पादित कार्यों का प्रस्तुतिकरण दिया गया। जिसके उपरान्त बैठक के एजेण्डे पर बिन्दुवार चर्चा की गयी। बैठक में परिषद की साधारण सभा व कार्यकारिणी समिति में महानिदेशक, कृषि एवं उद्यान को सदस्य के रूप में नामित करने पर परिषद के प्रबन्ध समिति द्वारा स्वीकृति / अनुमोदन प्रदान किया गया। उद्यान विभाग को पेपर रहित बनाने एवं औद्यानिक आंकड़ो के डिजिटाइजेशन तथा समस्त किया-कलापों को डिजिटल माध्यम से किये जाने हेतु “प्रोजेक्ट डिजिटल उद्यान” स्वीकृति / अनुमोदन के साथ प्राजेक्ट का व्यय विवरण से बोर्ड को अवगत कराने हेतु निर्देशित किया गया।

राज्य में उत्पादित सभी कृषि और बागवानी उत्पादों के बेहतर विपणन और व्यापारिक प्रचार-प्रसार के लिए, उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद के अधीन “अम्ब्रेला ब्रांड नेम” का निर्माण करने के लिए प्रबंध समिति द्वारा स्वीकृति दी गई है। यह पहल के बादशाह में हो रहे कार्यक्रम के तहत किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून से लौटे सीएम धामी ने इन्वेस्टर सम्मिट की तैयारियों की निरीक्षण की प्रक्रिया को यहाँ से मार्गदर्शन किया है।

इसके साथ ही, राज्य के उन किसानों के साथ एक त्रिपक्षीय समझौता (किसान, परिषद, और सेवा प्रदाता संगठन के बीच) पर भूमि विकास और बागवानी के विकास के लिए ‘प्रोजेक्ट बाग-बहार’ के रूप में सेवा प्रदाता के रूप में काम करने की स्वीकृति / अनुमोदन भी दी गई है।

राज्य में स्थापित छोटे समूहों के सहयोग के दृष्टिगत देहरादून में ” द ब्रैंड ऑफ उत्तराखंड ” तीन दिवसीय महोत्सव के आयोजन हेतु हेतु प्रवन्ध समिति के द्वारा स्वीकृति एंव अनुमोदन प्रदान किया गया। कृषक उत्पाद बिकी हेतु एच०पी०एम०सी० की तर्ज पर रिटेल आउटलेट / स्टोर स्थापना एंव संचालन से पूर्व, उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद अपने ब्राण्ड का चयन कर रिटेल आउटलेट हेतु भूमि का चयन उचित स्थानों पर कराये, जिससे स्थापित होने वाले आउटलेटों की उपयोगिता सुनिश्चित की जा सकें।

यह भी पढ़ें 👉  श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में सोमवार से ओपीडी मुक्त

उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद के भवन में भूतल पर स्थित हॉल में क्रेता-विक्रेता बैठक / समीक्षा बैठक / महानिदेशक कृषि एवं उद्यान विभाग की समीक्षा बैठक / बोर्ड मीटिंग / कॉन्फ्रेंस रूम / बैठक कक्ष की स्थापना हेतु प्रबन्ध समिति का अनुमोदन एंव स्वीकृति प्रदान की गयी । परिषद / बोर्ड के कार्यो के बढ़ते कार्य क्षेत्र को देखते बोर्ड के कार्य संचालन हेतु उद्यान विभाग के विषय विशेषज्ञों को प्रतिनियुक्ति के आधार पर परिषद में नियुक्त किये जाने के सम्बन्ध अनुमोदन / स्वीकृति प्रदान की गयी।

बैठक में कृषि मंत्री गणेश जोशी ने निर्देश देते हुए कहा कि परिषद की प्रबन्ध समिति एंव कार्यकरणी समिति की बैठकें नियमानुसार नियत समय पर कराई जाय। राज्य में पुष्प उत्पादन बढ़ावा दिये जाने हेतु हालैण्ड एंव थाइलैण्ड की तर्ज पर उत्तराखण्ड औद्यानिक परिषद के अधिकारियों को भ्रमण हेतु निर्देश दिये गये। मंत्री ने राज्य में काश्तकारों को विभिन्न औद्यानिक निवेश निर्धारित समय पर उपलब्ध कराये जाये । राज्य में विभागीय अधिकारी सीधा कृषक से संवाद कर उनसे जानकारी प्राप्त कर उनकी -समस्याओं का त्वरित गति से समाधान करने के भी निर्देश दिए। मंत्री ने कहा बोर्ड की बैठक समय पर की जाए। ताकि जिस उद्देश्य के साथ बोर्ड बैठक हो उसका लाभ मिल सके। उन्होंने मार की मार्केटिंग व्यवस्था को सुदृढ़ करने के भी निर्देश दिए। मंत्री गणेश जोशी ने कहा प्रदेश में बागवानी एवं पुष्प उत्पादन के क्षेत्र में अनेेक सम्भावनाएं है।

यह भी पढ़ें 👉  कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के अनुसार, मोदी की गारंटी ने भाजपा को मजबूत जीत के लिए सोलिड आधार प्रदान किया है

उन्होंने बागवानी क्षेत्र से जुडे़ कास्तकारों को अवस्थापन सुविधाओं को देने के लिए कार्य योजना बनाये। जिसके लिए हल्टीकल्चर मार्केटिक बोर्ड को विशेष प्रयास करने होंगे। उन्होंने होल्टीकल्चर के फील्ड में कार्य कर रहे अधिकारियों को हिमाचल और कश्मीर भ्रमण करने के भी निर्देश दिए। मंत्री ने कहा किसानों के साथ गोष्ठी की जाए और किसानों के अनुभवों को भी सम्मलित किया जाए।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आनन्द वर्द्धन, महानिदेशक, कृषि एंव उद्यान रणवीर सिंह चौहान, उपसचिव उद्योग शिव शंकर मिश्रा, सीईओ बोर्ड नरेंद्र यादव, प्रबन्ध निदेशक, विजय थपलियाल, उपनिदेशक मीनाक्षी तिवारी, निदेशक महेन्द्र पाल सहित बोर्ड समिति के सदस्य उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top