उत्तराखंड

एकल महिलाओं को 75 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करने के लिए नये प्रस्ताव को जल्दी ही कैबिनेट मे लाया जाएगा

देहरादून: आज, महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने विधानसभा में स्थित सभागार कक्ष में विभागीय अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक आयोजित की। इस बैठक में, मंत्री ने पूर्व में दी गई निर्देशों के पालन के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा की और आने वाली योजनाओं पर भी चर्चा की।

विभागीय मंत्री ने बताया कि बैठक में एकल महिलाओं को रोजगार शुरू करने के लिए दी जाने वाली सब्सिडी,मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण, खाली पदों के लिए विज्ञप्ति जारी करने सहित कई अन्य विषयों पर विस्तृत चर्चा हुई। जानकारी देते हुए बताया कि जल्द ही आगामी कैबिनेट में एकल महिलाओं को सशक्त करने और उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने के लिए 75 प्रतिशत सब्सिडी को कैबिनेट में लाया जाएगा। बताया कि एकल महिला में अविवाहित ,निराश्रित,तलाकशुदा,एसिड अटैक या फिर परित्यक्ता महिलाएं शामिल हैं।इन समस्त महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की घोषणा मुख्यमंत्री धामी जी ने की थी।ऐसे में सभी महिलाओं को 75 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी जिसके लिए विभाग ने पूर्ण तैयारी कर ली है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः बीते 24 घंटे में वनाग्नि की 23 घटनाएं, आरोप में तीन मुकदमे दर्ज 

साथ ही जानकारी देते हुए बताया कि महिला कल्याण कोष के लिए अतिरिक्त शुल्क जो कि आबकारी विभाग से प्राप्त होना था इसके ऊपर भी चर्चा हुई।अधिकारियों द्वारा बताया गया कि विभाग की तरफ से सम्पूर्ण तैयारी कर ली गई है और आज ही प्रस्ताव वित्त विभाग को गया है।अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दिए गए हैं कि जल्द से जल्द इसका प्रस्ताव बनाते हुए इसे कैबिनेट के सम्मुख लाया जाए ताकि समय रहते इससे जुड़ी योजनाओ का लाभ जिनमे आपदा से अनाथ हुए बच्चों ,एक्सीडेंट में अनाथ हुए बच्चों या फिर ऐसी पहाड़ी जनपद की महिलाएं जिनके पास रहने के लिए अपनी छत नही है उन्हें मिल सके। इसकी नियमावली का प्रस्ताव भी वित्त के पास पहुंच चुका है जिसकी स्वीकृति के लिए अधिकारियों को इसपर आगे की कार्यवाही तेजी से करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  अपराध:क्या? जौलीग्रांट के छात्र खरीद रहे थे ड्रग्स, तस्कर ने उगले राज

विभागीय मंत्री रेखा आर्या ने यह भी जानकारी देते हुए बताया कि भविष्य में हमारे जितने भी आंगनबाड़ी भवन है ,आंगनबाड़ी सहायिकाएं हैं या फिर मिनी आंगनबाड़ी बहने हैं इसके लिए जहां जहां पर रिक्तियां हैं उन्हें एकमुश्त करते हुए उनकी विज्ञप्तियां निकालते हुए उन्हें भरने की प्रक्रिया को जल्द शुरू करे जिसके प्रस्ताव बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं ताकि कोई भी केंद्र खाली ना रहे।

साथ ही बताया कि प्रदेश की करीब ऐसी 5 हजार से अधिक मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों को उच्चीकरण करने के लिए भारत सरकार को आवेदन किया गया था जिन्हें इस माह के अंत तक भारत सरकार की मंजूरी मिलते ही उच्चीकृत कर दिया जाएगा जो कि एक बड़ी उपलब्धि है।साथ ही ऐसे मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण की प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरांत यहां पर सहायिकाओं की आवश्यकता होगी जिन्हें की विज्ञप्ति निकालने के बाद हम भरने का काम करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड वासियों के खिलाफ अश्लील व अभ्रद टिप्पणी करने वाले गिरफ्तार, जानें मामला

साथ ही मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि 24 जनवरी 2024 को राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर प्रदेश की सभी मेधावी बालिकाओं को सम्मानित किया जायेगा इस संबंध में विभाग के अधिकारियों को डेटा तैयार करने के निर्देश दिये गये हैं।
इस अवसर पर सचिव, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग, श्री हरिचंद सेमवाल जी, अपर सचिव श्री प्रशान्त आर्य जी, उपनिदेशक श्री विक्रम सिंह जी तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Most Popular

To Top