उत्तराखंड

इस बार भी कायम रही परंपरा, चकराता महाविद्यालय में निर्विरोध चुने गए सभी पदाधिकारी

विकासनगर। गुलाब सिंह महाविद्यालय चकराता में छात्रसंघ चुनावों में सभी प्रतिनिधि निर्विरोध चुने गए हैं। ये चकराता महाविद्यालय की परंपरा रही है।  यहां सिर्फ एक बार ही छात्रसंघ चुनाव में वोटिंग हुई।  इसके अलावा हमेशा की सारे प्रतिनिधि निर्विरोध चुने जाते रहे हैं।

चकराता महाविद्यालय में निर्विरोध चुने गए छात्रसंघ पदाधिकारी

उत्तराखंड के महाविद्यालयों में आज सुबह से ही जहां एक ओर चुनाव को लेकर वोटिंग चल रही है, वहीं चकराता के गुलाब सिंह महाविद्यालय में कई सालों से छात्रसंघ चुनाव में महाविद्यालय के सभी पदाधिकारियों को निर्विरोध चुनने की परंपरा बनी है। गुलाब सिंह महाविद्यालय में मात्र एक बार ही चुनाव हुए थे। उसके बाद छात्रों और अभिभावकों की सहमति से महाविद्यालय में प्रति वर्ष निर्विरोध सभी पदाधिकारियों को चुनने की परंपरा शुरू हुए है। इस साल भी ये परंपरा देखने को मिली। महाविद्यालय में अध्यक्ष पद पर विशाल वर्मा निर्विरोध निर्वाचित हुए। विश्वविद्यालय प्रतिनिधि निकिता राणा सहित अन्य पदाधिकारियों को निर्विरोध चुना गया। महाविद्यालय के छात्र छात्राओं और शिक्षकों समेत अभिभावकों ने इसको लेकर खुशी जाहिर की है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने यह दो दिवसीय संवाददात्मक बैठक में किया प्रतिभाग,

महाविद्यालय में सिर्फ एक बार हुई वोटिंग

गुलाब सिह महाविद्यालय की प्रधानाचार्य डॉ कामना लोहनी ने बताया कि हमारा देश लोकतांत्रिक देश है। लोकतंत्र में चुनाव एक प्रक्रिया है। उन्होंने बताया कि सबसे अच्छी बात यह रही कि अभिभावकों और महाविद्यालय के छात्र छात्राओं द्वारा सभी पदाधिकारी निर्विरोध चुन लिए। ये एक परंपरा बन गई है। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में निर्विरोध चुनाव प्रक्रिया सम्पन्न करायी गयी है। सभी पदाधिकारियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई है। आशा करते हैं कि भविष्य में भी यह परंपरा इसी तरह चलती रहे।

यह भी पढ़ें 👉  चारधाम धाम यात्रा करने के लिए बुजुर्गों व युवाओं के साथ बच्चों में उत्साह, देखें आकंड़े

Most Popular

To Top