उत्तराखंड

मोर्चे पर मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल, प्रभावित क्षेत्रों का लिया जायजा, अधिकारियों को दिए निर्देश

ऋषिकेश । क्षेत्रीय विधायक व मंत्री डॉ.  प्रेमचंद अग्रवाल ने भारी वर्षा के कारण जल मग्न हुए ग्रामीण क्षेत्रों दिल्ली फार्म गली नंबर 1, भल्ला फार्म, पांडे प्लाट, दून इंस्टीट्यूट के पीछे भल्लापी फार्म सहित घरों में आई दरारों, बहे खेतों, टूटे आंगन का प्रशासन की टीम के साथ दौरा किया। इस दौरान पानी निकासी के स्थाई समाधान के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया। डॉ. अग्रवाल में दिल्ली फॉर्म गली संख्या एक में ग्रामीणों से वार्ता की प्रभावित ग्रामीणों ने बताया कि पानी उनके घरों की जड़ों तक पहुंच गया है। जिससे घरों में दरारे तक आ गई है, इस पर डॉ अग्रवाल ने उपजिलाधिकारी को सर्वे कर जल्द मुआवजा देने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः बीते 24 घंटे में वनाग्नि की 23 घटनाएं, आरोप में तीन मुकदमे दर्ज 

इसके बाद डॉ. अग्रवाल ने भल्ला फार्म में लोगों की समस्याएं जानने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों को मेडिकल टीम, कच्चा व पका हुआ भोजन तथा दैनिक उपभोग की वस्तुएं उपलब्ध कराने को कहा। इस मौके पर उप जिलाधिकारी योगेश मेहरा, तहसीलदार चमन सिंह, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता धीरेंद्र कुमार, सिंचाई के अधिशासी अभियंता दिनेश उनियाल, सहायक अभियंता अनुभव नौटियाल, रामकुमार, रजनीश कुशवाहा, दीपेन चेतन, राजीव सेमवाल, नारायणी रतुड़ी, हरिप्रसाद, रामेश्वर प्रसाद, नीरज चौहान, राकेश पासवान, शोभन सिंह राणा, केदार रावत, जगदीश राणा, दीपक सेमवाल, मतबर रावत, सोहन कोटियाल, खुशीराम नौटियाल, कुलदीप नेगी, राकेश सिंह, विनीता देवी, रमेश पांडे, कलावती पांडे, इंदु, ज्योति रावत आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में निकाय चुनाव को लेकर क्या है सरकार का प्लान, जानें

सचिव सिंचाई को वीडियो कॉल के जरिए घटनास्थल से कराया अवगत
क्षेत्रीय विधायक व मंत्री ने पांडे प्लांट में नुकसान का जायजा लेने के बाद सिंचाई विभाग के सचिव हरीश चंद्र सेमवाल को वीडियो कॉल की। डॉ अग्रवाल ने वीडियो कॉल के जरिए सचिव सिंचाई विभाग को पांडे प्लाट में नुकसान से क्षतिग्रस्त घर, खेत व खलियान आदि दिखाएं। डॉ अग्रवाल ने उन्हें दूरभाष के द्वारा ही पांडे प्लॉट में बाढ़ नियंत्रण की शासन में लंबित 03 करोड़ 66 लाख रुपए की योजना को शीघ्र स्वीकृत करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  अपराध:क्या? जौलीग्रांट के छात्र खरीद रहे थे ड्रग्स, तस्कर ने उगले राज

चैनेलाइजेशन कर प्रभावितों को शीघ्र राहत दी जाए
डॉ. अग्रवाल ने पांडे प्लॉट व दून इंस्टीट्यूट के पीछे भल्ला फार्म में निरीक्षण के दौरान सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रभावितों को राहत देने के लिए तत्काल जाली वाले पत्थर व चैनेलाइजेशन किया जाए साथ ही यहां जेसीबी लगाकर पानी की दिशा बदली जाए।

Most Popular

To Top