उत्तराखंड

केदारनाथ और बद्रीनाथ में आखिर Paytm से कौन करा रहा है डिजिटल दान? मामले में बीकेटीसी सख्त, होगी एफआईआर

अक्सर चारधाम यात्रा शुरू होते ही ठग भी सक्रिय हो जाते हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के नाम पर देश-विदेश के कई तीर्थयात्री ठगे जाते हैं। लेकिन अब इन ठगों ने तीर्थ यात्रियों को ठगने का एक नया तरीका इजाद किया है। दरअसल, केदारनाथ और बद्रीनाथ मंदिर में कई स्थानों पर दान के लिए क्यूआर कोड के बोर्ड लगाए गए हैं। श्रद्धालुओं को कैश की बजाय ड‍िज‍िटल डोनेशन करने में कोई समस्‍या नहीं आए, इसके ल‍िए क्‍यूआर कोड के बोर्ड लगाए गए हैं। लेक‍िन इस तरह लगाए गए क‍िसी भी क्‍यूआर बोर्ड से केदारनाथ और बद्रीनाथ मंदिर समिति ने साफ इनकार क‍िया है और इस संबंध में पुल‍िस को तहरीर भी दी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  वेलडन:SGRR मेडिकल कॉलेज के मृदुल कैंसर रोगियों के लिए बने नई मिसाल

बता दें कि मंदिर में कई स्थानों पर दान के लिए क्यूआर कोड के बोर्ड लगाने के मामले में बीकेटीसी ने पुलिस को तहरीर दी है। समिति का कहना है कि मंदिरों में दान के लिए क्यूआर कोड के बोर्ड बीकेटीसी की ओर से नहीं लगाए गए थे।

यह भी पढ़ें 👉  ‘मानसखंड मंदिर माला मिशन’ को लेकर सीएम धामी की मेहनत ला रही रंग

 

बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने बताया कि दोनों धामों में कपाट खुलने के दिन ये बोर्ड लगाए गए थे। मामला बीकेटीसी के अधिकारियों के संज्ञान में आने पर उसी दिन बोर्ड उतार दिए गए थे। बीकेटीसी अधिकारियों ने पहले अपने स्तर से इस मामले की छानबीन की।

यह भी पढ़ें 👉  पति के संग सात फेरे लेने वाली पत्नी ने ही की पति की निर्मम हत्या

 

इसके बाद केदारनाथ मंदिर अधिकारी ने केदारनाथ पुलिस चौकी और बदरीनाथ में प्रभारी अधिकारी की ओर से कोतवाली में तहरीर दी गई है। अजेंद्र ने यह भी बताया कि बीकेटीसी की ओर से वर्तमान में अपने कामकाज में पेटीएम का प्रयोग नहीं किया जाता है।

Most Popular

To Top